Wednesday , October 5 2022

जनपद न्यूज का मंत्री से सवाल : यदि सब कुछ चकाचक है तो मकरा में मौत का जिम्मेदार कौन ?

शान्तनु कुमार/आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । म्योरपुर ब्लाक के मकरा ग्राम पंचायत में जहां एक तरफ आंकड़ों की बाजीगरी छिपाने की कोशिश की जा रही है वहीं राज्य मंत्री संजीव गोंड़ के बयान के सरकार के विकास को लेकर दावे की पोल खोलकर रख दी। योगी सरकार के 5 साल होने वाले हैं और मंत्री का कहना है कि ग्रामीण अभी भी नदी नाले व चुहाड़ का पानी पीने को मजबूर हैं। हालांकि मंत्री संजीव गोंड़ ने मकरा में लोगों से अपील की है कि वे नदी नाले का पानी न पिएं, बल्कि ग्राम पंचायत द्वारा भेजी जा रही टैंकर का पानी पिएं।

विकास को लेकर दावे करने वाली योगी सरकार की पोल तो उनके ही मंत्री ने खोल दी। मंत्री ने तो यह भी बता दिया कि यहां अशिक्षा है जिसकी वजह से यहां इस तरह की समस्या है। लेकिन 40 लोगों के मौत का जिम्मेदार कौन है इस सवाल पर हर कोई चुप्पी साध रखा है।

जिले के सीएमओ ने भले ही अब जाकर कमान संभाली है, जब उनके हाथ से सब कुछ निकल चुका है। यदि इतनी तत्परता पहले दिखाई होती तो शायद आज लोग जिंदा होते।

मंत्री जी को भी शायद चुनाव जीतने के बाद कभी मकरा जाने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ वजह जब सब कुछ ऊपर से चकाचक है तो फिर बेमतलब भागदौड़ का क्या अर्थ? अब यही देख लीजिए कि सोनभद्र में कुल 629 ग्राम पंचायत है लेकिन पूरा प्रशासनिक अमला मकरा गांव में ही अपनी ताकत झोंक रखा है। बाकी जगहों से जब समस्या आएगी तब दौड़ेंगे। यानी समस्या नहीं तो कोई सज्ञान लेने वाला नहीं, सब कुछ कागजों पर चकाचक चल रहा है।

कुल मिलाकर सीएम योगी जितनी मेहनत व्यवस्थाओं को ठीक करने में लगे हैं, उनके अफसर उतने ही लापरवाह हैं। ऐसे में जरूरी है कागजों पर आंकड़ों की बाजीगरी दिखाने वालों पर कार्यवाही करने की, ताकि भविष्य में कोई कभी लोगों की जन्दगी के साथ न खेल सके। वरना चुनाव सिर पर है और विपक्ष को बैठे बिठाए मुद्दा मिल जाएगा।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com