Tuesday , September 27 2022

इस मंत्री को नहीं है सरकारी तंत्र पर भरोसा, मकरा में मौत का आंकड़ा पता लगाएंगे भाजपा कार्यकर्ता

शान्तनु कुमार/आनंद चौबे

जनपद सोनभद्र की सबसे ज्वलनशील मुद्दा मकरा ग्राम पंचायत में मौत के मामले में हर दिन कोई न कोई नया अपडेट आ रहा है। कोई मौत की वजह मलेरिया बता रहा है तो कोई दूषित पानी ।
पूर्व ग्राम प्रधान राम भगत यादव ने दावा किया है कि उनके ग्राम पंचायत में अब तक 40 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सरकारी आंकड़ा 15 ही बताया जा रहा है।

मौत का सही आंकड़ा क्या है यह अब तक साफ नहीं हो सका है । लेकिन इसी बीच रविवार को मकरा दौरे पर पहुंचे समाज कल्याण राज्य मंत्री संजीव गोंड़ ने एक बयान देकर नई बहस छेड़ दी है । राज्यमंत्री संजीव गोंड़ का कहना है कि गांव में अज्ञात बीमारी से मौत का सही आंकड़ा क्या है यह उन्हें भी नहीं पता, लेकिन वे सही आंकड़ा पता करने के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं से जांच कराएंगे ।

मंत्री के इस बयान के बाद यह सवाल उठने लगा है कि क्या मंत्री संजीव गोंड़ को खुद के सरकारी अमले पर भरोसा नहीं है या फिर चुनाव सिर पर है तो आंकड़ों की बाजीगरी को छिपाने की कोशिश की जा रही है ।

जब पत्रकारों ने मंत्री जी से मौत का कारण पूछा तो मंत्री जी का कहना है कि दूषित पानी पीने व अशिक्षा ही इस मौत का कारण बन गया । उन्होंने लोगों से नदी नालों का पानी न पीने की अपील की है ।

लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर मंत्री जी सरकार में रह कर 5 साल क्या किये ….? जो अपील मंत्री संजीव गोंड़ आज कर रहे हैं वह यदि पहले किये होते तो शायद लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी।

बहरहाल मकरा ग्राम पंचायत में अज्ञात बीमारी से मौत का सही आंकड़ा कब आएगा यह नहीं कहा जा सकता… क्योंकि जब मंत्री जी को खुद के विधानसभा पहुंचने में इतना वक्त लग गया तो उनके कार्यकर्ता जांच के लिए कब पहुंचेंगे यह तो वक्त ही बताएगा ।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com