Saturday , September 24 2022

सत्याग्रह के दौरान किसानों पर दर्ज मुकदमा वापस करे भारत सरकार – संयुक्त किसान मोर्चा

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

सोनभद्र । पिछले साल 26 नवंबर से शुरु किसान आंदोलन में आंदोलनरत किसानों द्वारा तीनों कृषि कानून की वापसी की मांग पर भारत सरकार की सहमति बनने के बाद आज रॉबर्ट्सगंज स्थित नवीन सब्जी मंडी परिसर में संयुक्त किसान मोर्चे की आवश्यक बैठक भारतीय किसान यूनियन तथा संयुक्त किसान मोर्चे के वरिष्ठ नेता मनीराम पटेल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

इस दौरान मनीराम पटेल ने कहा कि “लंबे इंतजार तथा बड़ी कुर्बानी के बाद किसानों की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि अहिंसक आन्दोलन को बदनाम करने की सारी कवायद को किसानों ने अपने धैर्य के बल पर खारिज करते हुए सरकार को बात मानने के लिए मजबूर कर दिया। यह देश के किसानों की आजाद भारत में सबसे बड़ी लड़ाई तथा विजय दोनों ही है। उन्होंने कहा कि 22 नवंबर को लखनऊ में आहूत संयुक्त किसान मोर्चे की बैठक के बाद लिए गए निर्णय के अनुसार ही आगे की रणनीति तय की जायेगी आंदोलन की।”

बैठक में उपस्थित पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी ने आन्दोलन के दौरान शहीद हुए किसानों को याद करते हुए कहा कि आंदोलन के दौरान सैकड़ों किसान शहीद हो गए, जो बेहद दुःखद है। उन्होंने सरकार से माँग किया कि केंद्र सरकार को शहीद किसानों के परिजनों की आर्थिक मदद की घोषणा करनी चाहिए।

वहीं पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के नेता गिरीश पाण्डेय ने कहा कि “पिछले एक साल के आंदोलन के दौरान सरकार के इशारे पर पुलिस ने जगह-जगह किसानों पर मुकदमा दर्ज किया है। आंदोलनरत किसानों पर जो सरकार द्वारा तत्काल वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि गांधीवादी विचारधारा से लोकतांत्रिक तरीके से विरोध दर्ज कराने वाले किसानों पर मुकदमा दर्ज करना दुर्भाग्यपूर्ण रहा है। अकेले सोनभद्र में पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के 8 किसानों पर पन्नूगंज पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।”

भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह उर्फ देशराज ने बताया कि “22 नवंबर को लखनऊ मे होने वाली बैठक में सोनभद्र के किसान भी शामिल होंगे। देशराज ने कहा कृषि कानून वापसी तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर चर्चा के अलावा धान खरीद में होने वाली दुर्व्यवस्था पर भी चर्चा की जाएगी। देशराज ने कहा किसानों के फसल के भंडारण के लिए समुचित व्यवस्था कराने की मांग भी संयुक्त किसान मोर्चा के माध्यम से सरकार से किया जायेगा।”

बैठक में सुनील यादव, रामजी पटेल, संजय सिंह, जितेंद्र पटेल, मिथिलेश सिंह, राहुल, पुष्पराज सिंह, मिंटू, आशुतोष सिंह, बेचू सिंह, बृजेश कुमार, देवदास मौर्या, रामराज सिंह, विशाल कुमार, राजकुमार सोनी, मोहम्मद असलम, प्रेमनाथ, महेन्द्र सिंह उपस्थित रहे।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com