Tuesday , October 4 2022

देव दीपावली- दुद्धी शिवाजी तालाब पर देवलोक सा नज़ारा

रमेश यादव (संवाददाता)

– शाम होते दीपों की रोशनी से जगमगा उठा शिवाजी तालाब।

– 5100 से अधिक दीपों की रौशनी से नहाया प्राचीन शिवाजी तालाब

– एसडीएम,सी ओ तथा तहसीलदार एवं चेयरमैन ने पूजा अर्चना कराया सम्पन्न

दुद्धी। कार्तिक पूर्णिमा देव दीपावली के दिन शुक्रवार की शाम को प्राचीन शिवाजी तालाब देव लोक जैसा नजारा देख लोग मंत्रमुग्ध हो गए।शिवाजी तालाब पर करीब 50 हजार मिट्टी के दीयों की रोशनी से प्राचीन शिवाजी तालाब जगमगा उठा।मानो ऐसा लगा कि आसमान के तारे जमी पे उतर आये हो।यह नजारा देखते ही बन रहा था ऐसा लग रहा था।

ऐसा लग रहा था जैसे देवलोक इस जमीन पर उतर आया हो।तालाब के चारों ओर रोशनी की छठा देखते ही बन रही थी।साथ ही विधि विधान व मंत्रोउच्चार से की गई देख श्रद्धालु मंत्रमुग्ध हो गए।बता दे कि दुद्धी शिवाजी तालाब पर करीब 7 वर्षों से भव्य देव दीपावली का आयोजन दुद्धी राजस्व संघ के द्वारा की जा रही है ।इसकी शुरुवात तत्कालीन तहसीलदार जितेंद्र सिंह ने की थी।ऐसा लग रहा था जैसे एक बार फिर से दीपावली का त्यौहार मनाने का मौका मिला हो।

तहसील प्रशासन,नगरपंचायत,आम नागरिकों के सहयोग से दिव्य और भव्य देव दीपावली के कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।शाम होते ही मिट्टी के दीयों के रोशनी से पूरा घाट जगमगा उठा साथ ही नगर भी एक बार फिर दीयों की रोशनी से सराबोर हो उठा।देव दीपावली के दिन नगरवासियों ने भी घर पर मिट्टी के दीयों को जलाया और पूजन अर्चन की।देव दीपावली पूजन आरती के दौरान उप जिला अधिकारी रमेश कुमार, पुलिस क्षेत्राधिकारी राम आशीष यादव, तहसीलदार ज्ञानेंद्र सिंह यादव, नगरपंचायत अध्यक्ष राजकुमार अग्रहरि, प्रभारी निरीक्षक राघवेंद्र सिंह सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

इस दौरान पूर्व लेखपाल संघ अध्यक्ष अरुण कनौजिया एवं मंत्री सन्तोष यादव,विमलेश श्रीवास्तव, श्रीराम यादव,सुशील सहित अन्य राजस्व कर्मचारियों की टीम मौजूद रहे।संचालन अविनाश कुमार वाह वाह ने किया।

वही कैलाश कुंज द्वार पर भव्य तरीके से देव दीपावली का आयोजन किया गया। घाट भी दीपों की रोशनी से जगमगा उठा।मानो आज सभी देवी देवता जमीन पर उतर आए हो इस व्यवस्था को डॉक्टर लवकुश प्रजापति, डॉक्टर हर्षवर्धन, डॉक्टर जयवर्धन, तारा देवी, सुनैना देवी, ग्राम प्रधान सुनीता देवी,निरंजन जायसवाल के अलावा नगर के गणमान्य तथा अन्य मौजूद रहे।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com