Tuesday , October 4 2022

अतिथियों के सानिध्य में मंत्रोच्चार के साथ सत्तवाहिनी तट पर आयोजित हुई महाआरती

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

विंढमगंज। दिगंबर अखाड़ा अयोध्या से संबंध श्री राम मंदिर के प्रांगण से सटे स्थानीय जनों के सहयोग से सन क्लब सोसायटी के द्वारा निर्मित विशाल सूर्य मंदिर पर आज शाम लगभग 5:15 बजे छठ पर्व पर अस्ताचलगामी भगवान भास्कर के गंगा महाआरती में बनारस से आए पांच विद्वान ब्राह्मणों के द्वारा किया गया। इस मौके पर झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, बिहार व उत्तर प्रदेश के दर्जनों गांव से आए लगभग 7000 लोगों ने भाग लिया। महाआरती में छठ मैया की जय, सूर्य भगवान की जय की गगनभेदी जयघोष से पूरा इलाका भक्ति मय वातावरण में गुंज रहा था। महा आरती के दौरान भगवान भास्कर की प्रतिमा के ठीक सामने महंत मनमोहन दास के नेतृत्व में मंदिर के पुजारी हृदयानंद शास्त्री व वेद मोहनदास के द्वारा धूप दीप की आरती से पूरा मंदिर पर असर हुआ। छठ घाट का इलाका दिव्या सुगंधित वातावरण से मौजूद लोग आनंदित हो रहे थे। महाआरती के पश्चात क्लब के 25 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए छठ घाट पर बने विशाल स्टेज पर क्षेत्रीय विधायक हरिराम चेरो व अनुसूचित जाति जनजातिआयोग उत्तर प्रदेश सरकार के उपाध्यक्ष राम नरेश पासवान ने 25 दीप को प्रज्वलित करने के पश्चात कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। शुभारंभ के मौके पर मुख्य अतिथि को क्लब के संरक्षक, संयोजक, अध्यक्ष के द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया तथा क्लब के युवा सदस्यों सहित पूर्व पदाधिकारी व सदस्यों को मुख्य अतिथि के हाथों स्मृति चिन्ह वह आशीर्वचन से नवाजा गया।

इस मौके पर अध्यक्ष संजय कुमार गुप्ता, रमेश चंद्र एडवोकेट, प्रभात कुमार, वीरेंद्र कुमार, अमित कुमार केसरी, नंदकिशोर गुप्ता, नीरज सर, सौरव कांसकार, विजय कुमार गुप्ता बिज्जू, सुमन कुमार गुप्ता, राकेश कुमार एडवोकेट, राजेश गुप्ता ,उदय जयसवाल, पंकज गुप्ता, राकेश कुमार केसरी उर्फ बुल्लू, उदय गुप्ता, महेंद्र गुप्ता, अजय गुप्ता, ओम प्रकाश रावत, हर्षित प्रकाश, ओम प्रकाश यादव, अमरेश केसरी, अमित चंद्रवंशी सहित दर्जनों लोग मौके पर मौजूद थे

बता दें कि झारखंड और उत्तर प्रदेश को विभक्त करने वाली सतत वाहिनी नदी के तट पर बीते 25 वर्षों से छठ पर्व के पावन अवसर पर लगातार व्यवस्था को सुव्यवस्थित कर रही सन क्लब की स्थापना 1997 में की गई थी। 2000 में सन क्लब सोसायटी के नाम से इसका रजिस्ट्रेशन कराया गया। क्लब की स्थापना के पूर्व में भी क्लब के सदस्य छठ पूजा की व्यवस्था का काम करते थे और अपनी शुरुआती साल में मात्र ₹245 की सहयोग से पूरी व्यवस्था को संपादित करते हुए ₹18 की बचत की थी। जो क्रम उसी समय से चल रहा है जिसका एक बृहद स्वरूप छठ पर्व पर आपको आज जिले का सबसे बड़ा कार्यक्रम मेले के रूप में देखने को मिल रहा है ।धार्मिक आयोजनों के अलावा सामाजिक कार्यों , असहयोग की मदद, कोरोना काल में अच्छे वालिंटियर की भूमिका, क्षेत्र में दबी हुई प्रतिभा को निखारने की भूमिका, शिक्षा के क्षेत्र में, सरकारी नौकरी पाने वालों को प्रोत्साहन करने में, गंभीर बीमारियों के इलाज हेतु मदद करने में सोसाइटी बढ चढ़कर हिस्सा लेती है ।कोरोना संकटकाल में लोगों को मुफ्त में राशन, दवा, उपलब्ध कराना क्लब के लोगों की प्रमुख प्राथमिकता थी। इसके लिए क्लब ने बकायदा अनाज बैंक की स्थापना की थी जिसमें इतना प्रचुर मात्रा में अनाज उपलब्ध हो गया था कि करोना संकटकाल के बाद भी करीब 5 कुंतल चावल बचा हुआ था।
previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com