Sunday , September 25 2022

अस्चलगामी सूर्य को व्रती महिलाओं ने दिया अर्घ

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

विंढमगंज।आस्था का महापर्व सूर्य षष्टी ब्रत के तीसरे दिन नदी की जलधारा में खड़ी होकर ब्रती महिलाओं ने अस्चलगामी सूर्य को अर्घ दिया।इस ब्रत को महापर्व के रूप में मनाने वाले श्रध्दालुओं की भीड़ छठ घाटों पर उमड़ पड़ी।

भगवान भाष्कर के उपासना में डुबे हुये सुर्यदेव के निराजल व्रत के बाद भी व्रती महिलाएं व पुरुषों में काफी उत्साह देखा गया।फुलवार के मलिया नदी के पावन तट पर महिला-पुरुष श्रध्दालुओं ने डुबते हुये भगवान भास्कर को अर्घ दिया।तमाम व्रती महिलाएं सडक पर लेटते हुये छठ घाटों तक पहुची।।व्रती महिलाएं रास्ते मे छठ माता के गीत”काँच ही बॉस के बहँगीय,बहंगी लचकत जाए,इत्यादि गीतों से गुंजायमान था।सुरक्षा व्यवस्था में विंढमगंज पुलिस मौजूद रही।इससे पूर्व सुबह से ही ग्राम प्रधान अरविन्द जायसवाल के साथ युवाओं का एक दल छठ घाट पहुंच मार्ग का साफ-सफाई कर रहा था।जिसमें पंकज गोस्वामी, अमित कन्नौजिया, विवेक कन्नौजिया, उदय शर्मा, उपेंद्र श्रीवास्तव,राजू श्रीवास्तव,अरुण गुप्ता, सूरज कन्नौजिया, अनुराग श्रीवास्तव इत्यादि लोग शामिल रहे। ब्रती महिलाएं रातभर नदी मे रहकर उपासना के पश्चात गुरुवार को उगते हुये सूर्य को अर्घ्य देकर इस महापर्व की पूर्णाहुति करेंगे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com