Sunday , October 2 2022

छठव्रतियों ने किया खरना, 36 घंटा का निर्जला उपवास शुरू

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । लोक आस्था के महापर्व छठ के चार दिवसीय अनुष्ठान के दूसरे दिन छठ व्रतियों ने आज खरना किया। भगवान भास्कर की भक्ति में सराबोर श्रद्धालुओं ने सूर्यास्त के बाद विशेष प्रसाद बनाकर खरना पूजा किया। खरना के साथ ही छठव्रतियों का 36 घंटे तक का निर्जला उपवास शुरू हो गया। खरना का मतलब है शुद्धिकरण इसलिए आज व्रती श्राद्धालुओं ने स्नान कर मिट्टी के बने चूल्हे में आम की लकड़ी जलाकर गुड़ में बनी खीर और रोटी बनाकर भगवान भास्कर की पूजा कर भोग लगाया और खुद भी खाया। पूजा विधि के दौरान व्रती और उनके परिवार के सदस्यों ने स्वच्छता का पूरा ख्याल रखा।

इस दौरान कई छठव्रती श्रद्धालुओं ने नगर के शाहगंज रजवाहा और रामसरोवर तालाब किनारे भगवान भास्कर को भोग लगाया तथा थाल पूजन कर खरना किया जबकि कई श्राद्धालुओं ने अपने घरों में ही विधि-विधान से भगवान भास्कर को भोग लगाकर खरना किया। खरना के साथ ही नगर में पूरा माहौल भक्तिमय हो गया है। छठ व्रती लोक आस्था के महापर्व के तीसरे दिन यानी बुधवार को जलाशयों में पहुंचकर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देंगे।

सोमवार को नहाय-खाय के साथ ही चार दिनों तक चलने वाला लोक आस्था का महापर्व छठ शुरू हो गया था। पर्व के तीसरे दिन बुधवार को छठव्रती शाम को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पित करेंगे, उसके बाद गुरुवार को उदीयमान सूर्य के अर्घ्य देने के बाद ही श्रद्धालुओं का व्रत समाप्त हो जाएगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com