Saturday , October 1 2022

खबर का असर- पांगन नदी में अवैध खनन की जांच करने पहुँची वन विभाग की तीन सदस्यी टीम

आनंद कुमार चौबे/राजा (संवाददाता)

● प्रशिक्षु आईएफएस की टीम पहुँची बघाडू

● वन रक्षक और वन दरोगा पर गिर सकती है गाज- सूत्र

सोनभद्र । वन प्रभाग रेनुकूट के बघाडू और बभनी रेंज के बीच पांगन नदी में अवैध खनन की जांच के लिए मुख्य वन संरक्षक मिर्जापुर मण्डल ने आज उमेश तिवारी के नेतृत्व में प्रशिक्षु आईएफएस की तीन सदस्यीय टीम जांच करने पहुँची साथ ही टीम ने कनहर बांध के पास निर्माणाधीन पानी टंकी में प्रयुक्त हो रहे बालू की जांच की। बतादें की जनपद न्यूज़ live लगातर पांगन नदी में अवैध खनन को लेकर खबर प्रकाशित करता रहा है। जिसके बाद मुख्य वन संरक्षक ने जनपद न्यूज़ live की खबर को संज्ञान में लिया और तीन सदस्यी जांच टीम भेजी। इस दौरान वन विभाग समेत अवैध खननकर्ताओं मे खलबली मची रही।

दूसरी तरफ स्थानीय ग्रामीण सूत्रों का आरोप है कि जाँच टीम को मुख्य खनन स्थल (भीसुर पांगन) पर वन कर्मी और अधिकारी ले ही नहीं गए। तीन सदस्यीय टीम इस क्षेत्र में कभी घूमें नही है जिस वजह से वे खनन स्थल पर जा नहीं सके।

प्रभागीय वनाधिकारी मनमोहन मिश्रा ने मोबाइल पर बताया कि “उमेश तिवारी के नेतृत्व में डॉ0 शिरिन, हरिकेश चीफ के निर्देश पर जांच के लिए आये थे। जाँच के बाद रेंजर बघाडू को हिदायत दी गयी है कि वे टीम को पांगन नदी खनन की शिकायत वाले जगह पर ले जाये। उन्होंने बताया कि जांच में क्या पाया गया वह चीफ को अपनी रिपोर्ट देंगे।”

वहीं विभागीय सूत्रों की मानें तो वन रक्षक और वन दरोगा पर गाज गिर सकती है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com