Sunday , September 25 2022

सती अनुसुइया ने सीता जी को दिया पति धर्म का उपदेश

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

फरीदपुर (बरेली)। 22 अक्टूबर श्रीआदर्श रामलीला समिति के तत्वधान में चल रही रामलीला महोत्सव मंचन में जयंत प्रसंग, जानकी जी को मां अनुसुइया द्वारा नारी धर्म के उपदेश, संत मिलन एवं शूर्पणखा नासिक भंग लीला का मंचन हुआ। फरीदपुर चेयरमैन पूनम गुप्ता जी के द्वारा श्री आदर्श रामलीला मंडल वृंदावन मथुरा के निर्देशक पवन देव चतुर्वेदी व्यास जी व श्रीराम का पूजन कर मंचन लीला का शुभारंभ किया गया। व सती अनुसुइया ने वन में भटक रहे भगवान राम, लक्ष्मण के साथ माता सीता से भेंट की। इस दौरान माता सीता को पतिव्रत धर्म का महत्व समझाया। उन्होंने बताया कि पति परमेश्वर के समान है। जयंत परीक्षा के साथ वह चित्रकूट धाम से पंचवटी की ओर बढ़ने लगे व सूपर्णखां राक्षसी का रामचंद्र जी को देखकर मोहित होना, लक्ष्मण द्वारा नाक- कान काटना।

इस दौरान कमेटी में उपस्थित अतीश अग्रवाल (अध्यक्ष), विकास अग्रवाल सानू (महामंत्री), अंकुर अग्रवाल (कोषाध्यक्ष), प्रभुजीत सिंह, महावीर जयसवाल (वरिष्ठ उपाध्यक्ष), सर्वेश कुमार अग्रवाल (बबलू) (मुख्य मेंला महाप्रबंधक), सौरभ अग्रवाल (ऑडिटर), संजीव मोहन अग्रवाल (स्टेजप्रभारी), उज्जवल अग्रवाल (स्हे स्टेज प्रभारी), ओमवीर गुर्जर कानूनी (सलाहकार), आदित्य गुप्ता (मीडिया प्रभारी), मयंक अग्रवाल, ब्रह्मा शंकर गुप्ता, दिनेश सिंह, अनुज पांडे विजय कुमार गौड़, विकास अग्रवाल चंदा, (उपाध्यक्ष), प्रदीप गुप्ता, नितिन अग्रवाल लोहा, सुधीर सिंह परमार, अमित पांडे, प्रियंक अग्रवाल, अवधेश अग्रवाल पत्रकार (मंत्री), सरदार सत्येंद्र सिंह, अमित सक्सेना प्रियंक अग्रवाल लोहा, प्रतीक सिंगल (मेला प्रबंधक) रविंद्र कुमार मिश्रा, आदि उपस्थित रहे।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com