Monday , October 3 2022

बाढ़ कम होते ही कनहर-पागन नदी से अवैध खनन शुरु, रात भर गिरा रहे बालू

राजा (संवाददाता)

– बघाडू, बभनी वन क्षेत्र के भीसूर, अमवार, नगवां, बघाडू तक ट्रैक्टर से अबैध खनन

– खनन कर्ता मध्य रात्रि से भोर तक पागन नदी से करते हैं खनन

– रातो-रात अमवार चौकी के सामने गिरा दिये बालू

अमवार।कनहर व पागन नदी में बाढ़ कम होते ही अवैध खनन का खेल शुरू हो गया है।खनन कर्ता रात ढलते ही नदियों से खनन के फिराक में जुट जाते हैं और तय समय सीमा के अंदर खनन का खेल खेलते हैं।
सूत्रों की माने तो खनन कर्ता वन विभाग सहित कुछ सफेदपोशों के मिलीभगत से रात के अंधेरे में नदियों से खनन करके सेटिंग के तहत अमवार चौकी के सामने सहित अन्य जगहों पर बालू की आपूर्ति करते हैं।रात भर में 7 से 8 चक्कर ट्रैक्टर से लगाई जाती हैं और बालू गिरने के बाद लेबल कर दिया जाता है ताकि देखने में लगे कि बालू बाहर से लाया गया है।यह खेल लगभग रातभर चलता रहता है ।

लोगों का कहना है कि एक तरफ जहां लोगों को प्रधानमंत्री आवास बनाने के लिए बालू नही मिलने के कारण सेकेंड क़िस्त अटकी हुई है तो वहीं खनन कर्ता बेखौफ ठेकेदार को उच्चे दामों पर बालू आपूर्ति करके सरकारी राजस्व चुना लगा रहे हैं।
ठेकेदार स्थानीय खनन कर्ताओं से बालू लेकर बाहर का परमिट बनवा लेता है जिससे उत्तर प्रदेश सरकार का डबल नुकसान होता है क्योंकि बालू भले ही कनहर पागन नदी की रहती हैं लेकिन सरकार को इसका राजस्व नही मिल पाता है।सुत्रों से मिले जानकारी के अनुसार आज रात्रि मे भीसूर के पागन नदी से तीन- चार ट्रैक्टर के द्वारा अबैध खनन कर बालू अमवार चौकी के पास डंम्प किया गया है।वन क्षेत्राधिकारी रूप सिंह ने बताया कि डंम्प बालू की जानकारी नही थी अभी देखकर उचित कार्यवाही किया जाएगा।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com