Friday , September 30 2022

एफसीआई गोदाम से खाद्यान्न गड़बड़ी की जांच रिपोर्ट एसडीएम को सौंपा

रमेश यादव (संवाददाता)

■ तहसील की जांच में गड़बड़ी का खुलासा, हो सकती हैं बड़ी कार्यवाई

■ कोटेदारों को घटिया खाद्यान्न भेजे जाने का है मामला

■ गोदाम पर होती हैं खाद्यान्न की हेरा फेरी, घटिया खाद्यान्न कोटेदारों के यहां तथा बढ़िया खाद्यान्न बाजारों में की जाती सेल

दुद्धी। स्थानीय कृषि मंडी परिसर स्थित एफसीआई गोदाम से खाद्यान्न गड़बड़ी के बाबत जांच तहसीलदार सुरेश चंद शुक्ला और डिप्टी आरएमओ संजय पांडे की संयुक्त टीम ने एफसीआई गोदाम से खाद्यान्न गड़बड़ी और अनियमितता की जांच की गई तो जांच के दौरान गड़बड़ी बड़े पैमाने पर पाई गई है।दोनों जांच अधिकारियों ने जांच रिपोर्ट दुद्धी उप जिलाधिकारी रमेश कुमार को सौंप दी है।

उप जिला अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि दोनों अधिकारियों ने जांच के दौरान रिपोर्ट में गड़बड़ी और अनियमितता पाई गई है।एफसीआई गोदाम से निकासी करने वाले बाबू की संलिप्तता जांच के दौरान पाई गई है। उन्होंने बताया कि जांच रिपोर्ट तैयार करके शीघ्र ही जिला अधिकारी को कार्रवाई के लिए प्रेषित की जाएगी। एफसीआई गोदाम पर वरिष्ठ हाट निरीक्षक के बगैर मौजूदगी के ही गोदामों से खाद्यान्नों की निकासी की जाती है बाजार से सड़े हुए खाद्यान्न को गोदाम में लाकर सरकारी सस्ते गल्ले के कोटेदारों को आपूर्ति कर दी जाती है।अमवार और धोरपा गांव के दो कोटेदारों को सड़े हुए कटिंग के रखे गए चावल को गोदाम से करीब 300 बोरी चावल की आपूर्ति कर दी गई ।बुधवार को अमवार के कोटेदार सुखी सिंह और धोरपा गांव के कोटेदार नागेश्वर प्रसाद ने सड़े चावल की आपूर्ति किए जाने की शिकायत उप जिलाधिकारी रमेश कुमार से किया था ।उप जिलाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तहसीलदार और डिप्टी आरएमओ को जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था। जांच के दौरान बड़े पैमाने पर अनियमितता और गड़बड़ी सामने आया है।
एफसीआई गोदाम से अलग सरकारी खाद्यान्न और सरकारी खाली खाद्यान्न के बोरे रखे जाते हैं।इतना ही नहीं उक्त खाद्यान्न और बोरों को खाद्यान्न माफियाओं से ऊंचे दामों पर बेचा जाता है और उससे मिलने वाले धन को आपस में बंदरबांट कर लिया जाता है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com