Tuesday , October 4 2022

बारिश का कहर, कई मकान धरासायी, बुजुर्ग की मौत

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

० भारी बारिश के चलते किसानों की धान की फसलों को हुआ भारी नुकसान

फरीदपुर (बरेली) । दैवीय आपदा बनकर आई इस मूसलाधार बारिश के चलते क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में 1 दर्जन से अधिक कच्चे मकान गिर जाने से गरीबों के सिर से छत का साया चला गया और इस दैवीय आपदा के कारण मकान गिरने से उसमें दबकर एक बुजुर्ग की मौत हो गई और एक वृद्ध महिला घायल हो गई वहीं इस बारिश ने किसानों के खून पसीने से तैयार की गई धान की फसल खेतों में ही जलमग्न हो गई बारिश से किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया उसका सब कुछ इस बारिश ने छीन लिया ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर शहर तक पानी ही पानी का तांडव दिखाई दिया लोगों ने बताया कि इतनी बारिश कभी नहीं देखी जो शहरों के ऊंचे स्थानों पर भी कई कई फुट पानी भर गया लोग छतों एवं चारपाई के ऊपर बैठकर रात बिताई चारो तरफ बारिश को लेकर हाहाकार मचा हुआ था हर किसी के आंखों और दिलों में भय दिखाई दे रहा था। किसानों की आंखों में अपनी तबाही को लेकर आंसुओं का सैलाब दौड़ रहा था। 2 दिन से दैवीय आपदा बंनकर आई इस बरसात ने ग्राम नवादा बन में भूमिहीन गरीब शब्बन पुत्र सन्नू के मकान की खपरैल गिर जाने से 68 वर्षीय शब्बन की उसमें दबकर मौके पर ही मौत हो गई । उनकी 65 वर्षीय पत्नी अख्तरी दब जाने से गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें इलाज हेतु बरेली भेजा गया जहां उनकी सोमवार को शाम के समय लगभग 4:00 बजे अस्पताल में मौत हो गई । जिनके परिवार में का रो रो कर बुरा हाल है बारिश से उनकी गृहस्थी का सब कुछ तबाह हो गया वहीं ग्राम खल्लपुर में तीन शाहपुर बनियान में आठ शेखापुर में तीन भगवानपुर फुलवा में एक लोगों के मकान धराशाई हो गये जिन गरीबों के मकान इस बरसात में जमींदोज हुए हैं उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है लखनऊ दिल्ली हाईवे पर फतेहगंज पूर्वी मीरानपुर कटरा की तरफ हाईवे पर पेड़ गिर जाने से देर रात तक जाम लगा रहा फतेहगंज पूर्वी में एक घर की छत गिर जाने से एक पालतू गाय उसके बच्चे की दबकर मौत हो गई।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com