Thursday , September 29 2022

वर्तमान कोयला संकट के लिए पूरी तरह से रेलवे जिम्मेदार- पकौड़ी लाल कोल

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज रॉबर्ट्सगंज सांसदीय क्षेत्र से सांसद पकौड़ी लाल कोल ने प्रेसनोट जारी करते वर्तमान में चल रहे कोयला संकट के लिए रेलवे को जिम्मेदार ठहराया है।

सांसद ने बताया कि रेल मंत्रालय द्वारा कोल इंडिया कॉरीडोर में रेल लाइन दोहरीकरण परियोजनाओं के निर्माण कार्य में निरन्तर देरी के कारण कोयले का पर्याप्त स्टॉक होने के बावजूद परिवहन नहीं हो पा रहा है । नार्दन कोलफील्ड से जुड़ी रेल परियोजनाओं सिंगरौली-चोपन, शक्तिनगर-करेला रोड, सिंगरौली-कटनी-चोपन, रेणुकूट-दुद्धी-रमना रेल लाइनों के दोहरीकरण का कार्य मेरे पूर्व के कार्यकाल 2012 में सांसद रहते हुए स्वीकृति मिली थी, जिस हेतु वर्ष 2014 में रेल मंत्रालय द्वारा धनराशि जारी कर दी गई थी, लेकिन रेल दोहरीकरण परियोजनाएं लंबे समय से आज तक पूरी नहीं हो पाई है। सबसे महत्वपूर्ण चोपन चुनार एकल रेल लाइन 103 किमी लम्बाई स्थापना काल से ही उपेक्षित पड़ी थी । मेरे निरंतर प्रयास से गाड़ियों की गति सीमा 100 किमी प्रति घंटे बढ़ाये जाने हेतु इंजीनियरिंग कार्य, इंटरलॉकिंग स्वचालित सिग्नल प्रणाली, हॉल्ट स्टेशन निर्माण आदि कार्यों की स्वीकृति मिली तथा रेल विद्युतीकरण कार्य भी पूरा हो गया है। उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज द्वारा लगभग 40% कार्य पूरा किए जाने से ही जहाँ पहले केवल 2 से 4 कोयला लदी मालगाड़ियां इस रेल खण्ड से गुजरती थी आज 22 से 24 माल गाड़ियां एक दिन में इस रेलखण्ड से संचालित किए जाने का रिकॉर्ड बना है।

यदि इस रेलखंड पर स्वीकृत सभी कार्य जल्द पूरे करा दिए जाएं तथा गत वर्ष 2020-21 बजट में स्वीकृत चोपन-चुनार दोहरीकरण रेल परियोजना हेतु भारत सरकार तत्काल धनराशि जारी कर दोहरीकरण कार्य पूर्ण करा दें तो सैकड़ों माल गाड़ियां रोजाना कोयला ठुलाई कर सकेंगी। इतना ही नहीं इस रेलखण्ड के दोहरीकरण से इस आदिवासी अंचल के रेल यात्रियों को नई दिल्ली-हावड़ा रेल रूट का एक वैकल्पिक रेल मार्ग भी मिल जाएगा। जिससे रेलवे को भारी राजस्व लाभ मिलेगा।

सांसद पकौड़ी लाल कोल ने बताया कि उन्होंने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण तथा केंद्रीय शहरी एवं आवास तथा पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी को भी पत्र सौंपकर कर चोपन चुनार रेल दोहरीकरण परियोजना हेतु केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति से धनराशि शीघ्र स्वीकृत कराए जाने हेतु गुहार लगाई है। सांसद ने कहा है कि उक्त प्रकरण पर कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी को भी रेल मंत्री के संज्ञान में लाकर तथा रेल व कोयला मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक कर उपरोक्त रेल दोहरीकरण परियोजनाओं पर पहल करनी चाहिए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com