Friday , September 23 2022

हादसे के बाद उठा सवाल : जब गौशाला पर हो रहे लाखों खर्च तो सड़कों पर कैसे घूम रहे आवारा पशु, जिम्मेदार कौन ?

संजय केसरी/अर्जुन मौर्य/अंशु खत्री

बीती रात डाला में हुए हादसे ने प्रशासन के उस दावे की पोल खोलकर रख दी जिसमें प्रशासन गौ रक्षा व गोबंश हत्या को लेकर तमाम दावे करता है । जिस तरह से गायों को बचाने के चक्कर में शनिवार बीती रात दो लोगों की जान चली गयी और दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं, इसके लिए कहीं न कहीं प्रशासन ही सीधे तौर पर जिम्मेदार है ।

सवाल यह उठता हैं कि जब सरकार ने सारी सुविधा देते हुए गौशाला बनवा दिया है तो आखिर आवारा पशु सड़कों पर कैसे घूम रहे हैं। ऐसे पशुओं को आखिर क्यों नहीं अपनी कस्टडी में लेकर रखे और मालिक के आने पर भारी जुर्माना लेने के बाद ही छोड़े। लेकिन योगी सरकार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट का प्रशासन ने ऐसा हस्र बना दिया कि कभी सड़को पर पशु मर रहे हैं तो कभी लोगों की जिंदगी चली जा रही।
डाला की घटना चौकी से महज सौ मीटर की दूरी पर है लेकिन सवाल यह उठता है कि कोई क्यों दूसरे के कामों में हस्तक्षेप करें.. इसमें उनका क्या फायदा…शायद यही कारण है कि सीएम योगी ने सत्ता संभालते जिस प्रोजेक्ट को लेकर इतनी संजीदगी दिखाई थी अब वह धीरे-धीरे उसका असर खत्म होने लगा है और इसके लिए स्थानीय प्रशासन जिम्मेदार है। हालांकि इस प्रोजेक्ट पर हर महीने खर्च गिर रहा है और धन निकल रहा है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ इतर है ।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com