Sunday , September 25 2022

कलश यात्रा के साथ मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

विंढमगंज। थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत मुड़ीसेमर में स्थित शिव शंकर मंदिर के प्रांगण में हर वर्ष की भांति नवरात्र के पावन पर्व पर रखे जाने वाली मां दुर्गा के प्रतिमा के पूर्व गांव के सैकड़ों महिला व पुरुष के साथ ध्वनि विस्तारक यंत्र से पूरे गांव में जयकारा व मां भगवती की मधुर गीतों के साथ आज कलश यात्रा पंडित शेषमणि चौबे व ग्राम प्रधान उर्मिला देवी के नेतृत्व में निकाला गया।

विकास खंड दुद्धी के अंतर्गत ग्राम पंचायत मुडिसेमर में सततवाहिनी नदी के तट पर स्थित शिव शंकर मंदिर के प्रांगण में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करने के पूर्व आज ग्राम प्रधान उर्मिला देवी व पंडित शेषमणि चौबे के नेतृत्व में मंदिर के प्रांगण से ध्वनि विस्तारक यंत्र के साथ गांव के सैकड़ों महिला व पुरुषों ने कलश यात्रा में भाग लिया। कलश यात्रा मंदिर प्रांगण से निकलकर अंबेडकर चौक,प्राथमिक विद्यालय, कुशवाहा बस्ती, पासवान बस्ती, यादव बस्ती, उच्च प्राथमिक विद्यालय होते हुए ब्रह्मवापीपर तक गया।

वहां से वापस आकर गांव के बीच से बहने वाली मलिया नदी में पंडित शेषमणि चौबे के द्वारा जजमान सुखदेव पासवान व शंकर पाल को मंत्र उच्चारण के पश्चात कलश में जल भरकर मां भगवती की जय, माता रानी की जय, दुर्गा माता की जय, काली माई की जय, ग्राम देवता की जय के जयघोष के साथ कलश यात्रा धीरे-धीरे पुनः शिव शंकर मंदिर के प्रांगण में पहुंच कर कलश स्थापना, प्रसाद वितरण के बाद समाप्त हुआ। कलश यात्रा में क्षेत्र पंचायत सदस्य विनोद पासवान, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य मनोज पासवान, श्रवण कुमार, देवानंद, राजकुमार शिक्षामित्र, रेणु देवी, प्रतिमा देवी ,पूजा देवी, लक्ष्मी देवी, तारा देवी, बिकिनी देवी, रोहित, जयप्रकाश शर्मा, दिलीप पासवान, अशोक पासवान, पंकज, मनीष, मंटू सहित सैकड़ों महिला पुरुष ने भाग लिया।

जजमान शंकर पाल ने बताया कि हम लोगों के पूर्वजों के समय से ही शिव शंकर मंदिर का निर्माण छोटा रूप में कराया गया था। कई वर्ष बीतने के बाद स्थानीय ग्रामीणों की भक्ति व मंदिर में मनौती मांगने पर मनोकामना पूर्ण होता देख ग्राम पंचायत के ग्रामीणों के द्वारा आर्थिक सहयोग से आज मंदिर प्रांगण की बाउंड्री व मंदिर को भव्य विशाल रूप में बनवा दिया गया है। ऐसा मानना है कि मलिया नदी के तट पर स्थित शिव शंकर मंदिर में स्थापित भोलेनाथ की शिवलिंग जागृत शिवलिंग है ।गांव में किसी भी तरह का कोई अनिष्ट, दैवी आपदा जब आती है तो ग्रामीण एकत्रित होकर मंदिर के चबूतरे पर अखंड कीर्तन करके उस विकट परिस्थिति से लड़ने व समाप्त करने के लिए मन्नत मांगते हैं जो अवश्य पूरा होता है।
गांव के ही सरजू यादव ने कहा कि हमारे बाबा दादा के जमाने से ही इस मंदिर की बहुत महत्ता है। किसी भी तरह का कोई दुख होने पर मैं खुद इस मंदिर में स्थापित शिवलिंग के समक्ष दूर करने की विनती करता हूं तो अवश्य दूर होता है।
[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com