Monday , September 26 2022

रामलीला के चौथे दिन हुई नृत्य नाटिका “पनघट चली पनिहारिन” की मनमोहक प्रस्तुति

मनोज वर्मा (संवाददाता)

रेणुकूट। श्री रामलीला मंचन के चतुर्थ दिवस का शुभारम्भ हिंडालको संस्थान के सेफ्टी व इनवायरमेंट विभाग प्रमुख श्रीमती एवं मुकेश मित्तल के श्री गणेश पूजन व श्री राम आरती के साथ हुआ।
रामलीला मंचन के चतुर्थ दिवस के कुछ मुख्य दृश्य इस प्रकार रहे- अयोध्या में राम राज्याभिषेक की तैयारियां चल रही है, मंथरा ये सब देखकर क्रोधित होती है। उसी समय नारद जी का प्रवेश तथा मंथरा को कैकयी के द्वारा राजा दशरथ से वरदान मांगने के लिए उकसाना। कैकयी मंथरा वार्ता। कैकयी के द्वारा दशरथ से दो वरदान मंगाना, पहले में भरत को अयोध्या की राजगद्दी तथा दूसरे में राम को चौदह वर्ष का वनवास, दुखी होकर दशरथ का मूर्छित होना, राम के द्वारा दशरथ को धीरज बंधाना तथा वन में जाने का निर्णय लेना। साथ ही मनमोहक नृत्य नाटिका – “पनघट घाट चली पनिहारिन ” के द्वारा प्रस्तुति में श्री राम, माता सीता व लक्षमण जी वन जाते समय एक ग्राम से गुजर रहे होते है, वहीं ग्रामीण स्त्रियां पनघट से पानी लेने आई हुई हैं। उन्होंने राम-सीता तथा लक्षमण को देखकर उनसे वार्तालाप करना।
रामलीला का यूट्यूब चैनल “श्री रामलीला परिषद हिंडालको” पर प्रसारण सांय 07:00 बजे से किया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com