Monday , October 3 2022

नवरात्र के दूसरे दिन लगभग 50 हजार भक्तों ने शीश झुकाया

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

मिर्जापुर । विंध्यधाम के शारदीय नवरात्र मेला के दूसरे दिन मंगला आरती के बात सुबह दस बजे तक मां के चरणों में लगभग 50 हजार भक्तों ने शीश झुका कर आशीर्वाद लिए। मां विंध्यवासिनी के ब्रह्मचारिणी स्वरूप का दर्शन कर भक्त निहाल हो गए। नवरात्र के दूसरे दिन अपेक्षाकृत कम भीड़ रही। सुबह से ही तेज धूप के कारण भक्तों को त्रिकोण परिक्रमा करने में भी दिक्कत हुई। फिर भी वक्त मां के प्रति आस्था जताते हुए त्रिकोण परिक्रमा में जुटे रहे।

जिले के अलावा गैर प्रांतों से मां के दर्शन के लिए विंध्यधाम पहुंचे श्रद्धालु गंगा स्नान करने के बाद मंदिर के दोनों प्रवेश द्वार एवं झांकी पर दर्शन पूजन के लिए भोर में ही लाइन लगा लिए थे। मंगला आरती के बाद मंदिर का कपाट खुलते ही लाइन में खड़े श्रद्धालु मां के दर्शन पूजन के लिए गर्भ गृह में पहुंच गए। मां विंध्यवासिनी का दर्शन पूजन करने के बाद भक्त मंदिर परिसर में स्थित अन्य देवी-देवताओं का दर्शन पूजन कर अष्टभुजा और काली खोह मंदिरों पर पहुंचकर दोनों देवियों का दर्शन पूजन किए। इन मंदिरों पर भी नवरात्र के दूसरे दिन भक्तों की संख्या काफी कम रही। श्रद्धालु आराम से दर्शन पूजन करने में जुटे रहे। दर्शन पूजन के बाद कुछ श्रद्धालुओं ने त्रिकोण परिक्रमा भी की। तेज धूप के कारण त्रिकोण करने वाले श्रद्धालुओं को काफी दिक्कत हुई फिर भी वे परिक्रमा करने में जुटे रहे। मां विंध्यवासिनी के जयकारे से विंध्याचल गूंजता रहा।

वहीं बड़ी संख्या में श्रद्धालु 9 दिन का अनुष्ठान भी किए हुए हैं। ऐसे श्रद्धालु मंदिर की छत पर सुबह पहुंच कर दुर्गा सप्तशती का पाठ करने में जुट जाते हैं। श्रद्धालुओं की संख्या कम होने के कारण मेला ड्यूटी में जुटे पुलिस एवं प्रशासनिक अफसरों ने भी राहत की सांस ली है।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com