Monday , October 3 2022

अपडेट : लगभग छः घण्टे बाद यूपी सीमा से वापस हुए मंत्री व कांग्रेसी नेता

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

-लखीमपुर खीरी जा रहे झारखंड राज्य के मंत्री,विधायक व कांग्रेसी नेताओं को बार्डर पर रोक दी थी पुलिस

-छः घण्टे बाद गुरुवार की सुबह 8 बजे सीमा से वापस हुए मंत्री,विधायक व कांग्रेसी नेता

-सात घण्टे तक एनएच 75 पर आवागमन रहा बाधित,लम्बी दूरी तक लगी गाड़ियों का काफिला

विंढमगंज। थाना से महज 50 कदम दुर झारखंड यूपी की सीमा से होकर गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 75 पर सतत वाहिनी नदी पर बनी पुलिया के पास बैठे झारखंड राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, विधायक बंधु तिर्की, ममता देवी व अन्य कांग्रेसी नेता गण जो झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में जा रहे राज्य के दो मंत्री व तीन विधायकों सहित दर्जनभर से ऊपर प्रदेश स्तरीय कांग्रेसी नेताओं को स्थानीय पुलिस ने सीमा पर ही दर्जनों गाड़ियों के काफिले को बैरिकेडिंग करके रोक दिया। कांग्रेसी मंत्रियों, विधायकों व नेताओं को प्रवेश नहीं करने दिया। करीब 6 घंटे बाद मंत्री, विधायक व कांग्रेसी नेता उत्तर प्रदेश सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए वापस हुए।

बताते चलें कि प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में किसानों की मौत के बाद अपने आला नेताओं का सहयोग करने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर के नेतृत्व में जा रहे झारखंड राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री बादल पत्रलेख, मांडर के विधायक सह कांग्रेश के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की, रामगढ़ के विधायक ममता देवी, कोलेबिरा के विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्षा गुंजन सिंह, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष शहजादा अनवर, राजीव रंजन प्रसाद,मानस सिन्हा, संजय लाल पासवान, अमूल्य नीरज खलखो, सतीश पाल, गंजनी, जयशंकर पाठक, कुमार राजा, जगदीश साहू, जिला अध्यक्ष मंजूर अंसारी, प्रमोद दुबे, जैश रंजन पाठक, गढ़वा जिला अध्यक्ष अरविंद तूफानी सहित अन्य कांग्रेसी नेता बुधवार की रात करीब 2 बजे जैसे ही झारखंड व उत्तर प्रदेश की सीमा विलासपुर पहुंचे वैसे ही स्थानीय पुलिस के द्वारा सीमा में प्रवेश करने से रोक दिया गया। यूपी पुलिस को सूचना मिली थी कि झारखंड के मंत्री, विधायक सहित दर्जनभर से अधिक कांग्रेसी नेता लखीमपुर खीरी जाने के लिए विंढमगंज की ओर से यूपी सीमा में प्रवेश करेंगे। सूचना पर पुलिस के द्वारा रात 11 बजे से ही सीमा को सील कर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया था। यूपी पुलिस के समक्ष मंत्री विधायक व कांग्रेसी नेताओं की एक नहीं चली। मंत्री विधायक व कांग्रेसी नेता सड़क पर बैठ नारेबाजी व भाषण बाजी करने लगे। गुरुवार की सुबह 7.30 बजे जिले के अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह सीमा पर पहुंचे और मंत्री विधायक को किसी भी कीमत पर सीमा में प्रवेश नहीं करने देने की बात कही। तब जाकर राज्य के लखीमपुर खीरी जा रहे मंत्री, विधायक व सभी कांग्रेसी नेता वापस हुए।

https://youtu.be/am1qDP4l4EA

सात घण्टे तक जाम रहा रांची-रींवा राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 75

राज्य के मंत्री, विधायक व कांग्रेसी नेताओं को सीमा में प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिलने पर सभी जनप्रतिनिधि राष्ट्रीय राजमार्ग 75 पर बैठकर जाम कर दिए। जिसके कारण बुधवार की रात 2 बजे से गुरुवार की सुबह 8 बजे तक राष्ट्रीय राजमार्ग 75 पर वाहनों का परिचालन बंद रहा। सुबह 8 बजे जब मंत्री, विधायक व कांग्रेसी नेता गण वापस हुए तब सड़क जाम हटा और एनएच पर आवागमन प्रारंभ हुआ। इस बीच राष्ट्रीय राजमार्ग 75 के दोनों तरफ लंबी दूरी की गाड़ियों का 2 किलोमीटर तक लंबी कतार लग गयी। सड़क के दोनों तरफ पटरी पर वाहन चालक अपनी अपनी वाहन खड़ा कर सड़क जाम हटने का इंतजार करते दिखे ।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com