Tuesday , September 27 2022

युवा प्रधान ने तालाब में जा रहे पानी की समस्या से दिलाया निजात, कस्बावासियों में हर्ष

विनोद कुमार (संवाददाता)

इलिया में 15 वर्ष से चल रहे विवाद का हुआ पटाक्षेप
इलिया।कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो कोई भी कार्य नामुमकिन नहीं है।यह जुनून इलिया कस्बा में देखने को मिला।जब युवा प्रधान सुरेन्द्र गुप्ता ने अपने सचिव अनिल पटेल के साथ मिलकर 15 वर्ष से चले आ रहे विवाद को खत्म कर दिया।वहीं सपना साकार होते ही कस्बावासियों का चेहरा खुशी से खिल उठा।विकास खण्ड शहाबगंज की सबसे बड़ी आबादी के रुप में जाना जाने वाला यूपी-बिहार के बार्डर पर स्थित कस्बा ग्राम पंचायत इलिया है।जिसकी आबादी लगभग पांच हजार है।कस्बा में यूपी के साथ ही बिहार के दर्जनों गाँव के लोगों का भी खरीददारी के लिए आना जाना होता है।कस्बा में जल निकासी की समस्या जटिल होती जा रही थी।सड़क,गली पक्का होते जा रहे थे,लेकिन पानी निकासी की समस्या ज्यों की त्यों बनी रही।दो वर्ष पूर्व करोड़ों रुपये खर्च कर सीवर और सीसी का निर्माण पीडब्ल्यूडी द्वारा कराया गया।लेकिन पानी निकासी का समुचित समाधान नहीं हो पाया।कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी सीवर का पानी तालाब में ही गिराकर चलता बना,इसको लेकर कस्बावासियों द्वारा धरना-प्रर्दशन भी किया गया।फिर भी कोई समाधान नहीं निकल पाया।पूरे कस्बा का पानी तालाब में गिरने से पुरा पाना ही प्रदूषित हो ही गया था।वहीं दलित बस्ती के घरों में भी पानी घुस जा रहा था।तालाब का पानी दूषित होने के कारण छठ व जिउतिया पर्व भी मनाने में व्रती महिलाओं को समस्या हो रही थी।घरों का गंदा पानी तालाब में न गिरने पाये इसके लिए कस्बावासी एसडीएम से लेकर जिलाधिकारी के यहां फरियाद भी लगा चुके थे।इस 15 वर्ष से चले आ रहे विवाद का निस्तारण करने का जिम्मा युवा ग्राम प्रधान सुरेन्द्र गुप्ता ने उठाया और पानी की निकासी तालाब की जगह सड़क के किनारे बनी नाली में कराने में सफल रहे।।सुरेन्द्र गुप्ता ने बताया कि मुम्बई जैसे बड़े शहर में जमा जमाया धंधा कोविड19 काल में छोड़कर कस्बा में आया था।पंचायत चुनाव में मित्रों व ग्रामीणों के सहयोग से चुनाव लड़ा और प्रधान निर्वाचित हुआ।प्रधान बनने के बाद ग्रामीणों ने पानी निकासी का समुचित समाधान करने की बात कही।वर्षो पुराने तालाब में गंदा पानी गिरने से अस्तित्व भी खतरे में आ गया था।इसके लिए अपने सचिव अनिल पटेल से मंत्रणा किया।जिन्होंने हर सहयोग देने का आश्वासन दिया।उसके बाद जेई को बुलाकर पानी लेबल मिलाने के साथ,स्टीमेट बनाकर कार्य प्रारम्भ कराया गया।प्रधान ने बताया कि एक माह तक कार्य चला,पिछले शुक्रवार को पानी निकासी प्रारंभ होते ही सुखद एहसास की अनुभूति हुई और आगे भी कार्य करने की प्रेरणा मिली।सचिव अनिल पटेल ने कहा कि कार्य लम्बा था।बजट भी अधिक लग रहा था,कार्य को तीन पार्ट में करके किया गया।इस नाली के बनने से तालाब में नाबदान का पानी जाने से रूक गया।वहीं ढेरों समस्याओं का निस्तारण भी हो गया।पानी निकासी होने से कस्बावासियों में हर्ष व्याप्त है।कस्बा के बीरमचन्द्र गुप्ता, इम्तियाज,दिलीप दूबे, नबाव विश्कर्मा, दशरथ गुप्ता, विनोद गुप्ता, अमित गुप्ता बृजेश, पिन्टू चौहान सहित आदि ने युवा ग्राम प्रधान व सचिव अनिल पटेल को बधाई दी है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com