Monday , October 3 2022

गांधी जयंती पर चौधरी जयन्त सिंह ने प्रदेश के 59 हजार ग्राम प्रधानों को पत्र लिख लोक संकल्प 2022 के लिए सुझाव माँगे

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी जयन्त सिंह ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयंती के अवसर पर ग्राम पंचायत को लोकतंत्र की प्राथमिक इकाई मानते हुए प्रदेश के सभी नवनिर्वाचित 59000 ग्राम प्रधानों को बधाई देते हुए पत्र लिखा और लोकसंकल्प 2022 के लिए उनसे सुझाव मांगे।
चौधरी जयन्त सिंह ने ट्वीट कर कहा कि “महात्मा गांधी जी का ग्राम स्वराज का सपना साकार करना है तो पंचायती राज व्यवस्था को अधिकार देने होंगे! महात्मा गांधी जी की जयंती के पावन अवसर पर उत्तर प्रदेश के 59000 नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को मैंने पत्र लिखा है।यूपी के चौमुखी विकास के लिए लोक संकल्प 2022 में सुझाव लिए जा रहे है”

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी का मानना था कि आजादी की शुरुआत नीचे से शुरु होनी चाहिए तभी सत्ता जनता के हाथों में रहेगी।

श्री सिंह ने कहा कि किसान मसीहा चौ.चरण सिंह जी का विश्वास था कि देश के विकास का रास्ता खेत और खलिहानों से होकर जाता है।समस्त ग्राम प्रधानों को इसी भावना से गाँवों के विकास का रथ चलाना चाहिए।
श्री सिंह ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 243 के 73 वें संसोधन के द्वारा पंचायती राज व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ साथ ग्राम प्रधानों को समुचित अधिकार प्रदान किए गए थे परन्तु अभी तक समस्त राज्यों में यह व्यवस्था पूर्ण रूप से अमल में नहीं आ सकी है क्योंकि कतिपय राज्यों में प्रशासनिक हस्तक्षेप ग्रामीण विकास में बाधक बना रहता है।ऐसी स्थिति में ग्राम प्रधानों को विकास कार्य कराने के साथ साथ अपने अधिकारों की माँग भी उठानी चाहिए ताकि वे अपने कर्तव्यों का भलीभांति निर्वाह कर सकें।

2 अक्टूबर, 1959 में नागौर में पंचायती राज व्यवस्था को विधिवत स्थापित किया गया था।
देश के इतिहास में दर्ज इस महत्वपूर्ण तारीख के अवसर पर राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी जयन्त सिंह ग्राम पंचायत के प्रधानों को पत्र लिख ये संदेश दे रहे हैं की राष्ट्रीय लोकदल का घोषणा पत्र भी जनता ही तैयार करेगी।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com