Saturday , September 24 2022

आखिर कब तक स्कूली बच्चे पढ़ाई छोड़ बनते रहेंगे हर सरकारी दिवस की शोभा

नीरज सिंह/शान्तनु कुमार

– बिना मास्क के बच्चों को खड़ा कर दिया गया लाइनों में

सलखन । चाहे कोई भी दिवस हो या फिर योजना, बिना स्कूली छात्र-छात्राओं के पूरा होना सम्भव नहीं । जिन चीजों से बच्चों को कोई वास्ता नहीं या फिर उन्हें जानकारी नहीं, उन्हें जबरन लाइनों में खड़ा कर भीड़ का हिस्सा बना दिया जाता है ।

ऐसा ही नजारा शुक्रवार को गुरमा वन रेंज में देखने को मिला, जहां आज वन विभाग की टीम द्वारा वन्य प्राणी सप्ताह मनाने की शुरुआत की गई । अब वन्य प्राणी सप्ताह मनाना है तो जाहिर है परम्परा के मुताबिक प्रभात फेरी निकालना है, और इसके लिए वन विभाग में उतनी बड़ी टीम तो है नहीं कि लंबी लाइन बनाकर बड़ा मैसेज दिया जा सके । जाहिर है सबसे आसान रास्ता स्कूल की तरफ जाता है ।

बच्चों को बैनर पकड़ा के अधिकारी व कर्मचारी फोटो खिंचवाने के लिए तैयार हो जाते हैं । मजे की बात यह है कि जब तक सभी मीडिया फोटो न खींच लें तब तक यह रैली चलती रहती है । फिर अधिकारी अपने संदेश में बच्चों को कुछ कहेंगे और ताली बजने के साथ पूरा हो जाता है यह अभियान ।

अब सवाल यह उठता है कि कोविड काल के बाद स्कूल खुले भी तो पूरी सावधानी बरतने के साथ, ऐसे में बच्चों को इस तरह पढ़ाई बाधित कर दिवस का हिस्सा बना देना कहाँ तक जायज है । सवाल यह भी उठता है कि विभाग तो सिर्फ अपनी खानापूर्ति कर वाहवाही लूटना चाहता है लेकिन क्या जिन बच्चों के भरोसे वह अपना सीना चौड़ा कर फोटो खिंचवाता है क्या उन बच्चों को ज्ञान तक देता है ?

बहरहाल वन्य प्राणी सप्ताह के लिए रघुनाथ प्रसाद इंटरमीडिएट कॉलेज रजधन में छात्र-छात्राओं व ग्रामीणों द्वारा आज प्रभात फेरी निकाली गयी ।

वन दरोगा एसके दीक्षित ने बताया कि यह कार्यक्रम 7 अक्टूबर तक चलेगा इसके अंतर्गत रेंज परिसर में तथा फासिल्स पार्क में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम किए जाएंगे । कार्यक्रम का समापन 7 अक्टूबर को किया जाएगा । इस मौके पर वन क्षेत्राधिकारी सी पी तिवारी, रामदास, बजरंगी मौर्य सहित विद्यालय के शिक्षक एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com