Tuesday , October 4 2022

डीएम की अध्यक्षता में हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक

कुलदीप चौरसिया (संवाददाता)

० मोडिफाइड साइलेंसर युक्त बुलेट को अभियान चलाकर सीज करें अफसर।सड़कों पर दौड़ते मिले विद्यालयों के अनफिट वाहन, होंगे सीज : डीएम

लखीमपुर खीरी । डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक का सफल संचालन एआरटीओ प्रवर्तन रमेश कुमार चौबे ने किया।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों से ज़िले के 13 ब्लैक स्पॉट स्थलों पर आईआईटी दिल्ली के रोड सेफ्टी ऑडिट में प्राप्त निर्देशों पर अब तक की कार्यवाही की जानकारी ली, जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने बार मार्किंग, रंबल स्ट्रिप, एज लाइन, सेंटर लाइन, हजाडर्स मार्कर आदि कार्य की प्रोग्रेस जानी। डीएम ने सड़कों पर स्पीड कम करने के लिए अब तक किए उपाय जाने। वही अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह को ब्लैक स्पाट पर पुलिस द्वारा की जाने वाली कार्रवाइयों हेतु निर्देशित किया। डीएम के पूछने पर पीडब्ल्यूडी के अफसरों ने बताया कि जिले में 40 दुर्घटना संभावित क्षेत्र चिन्हित है, जिनमें अस्थाई सुधार कार्य कराने के साथ ही स्थाई सुधार कार्यों की स्टीमेट बनाकर भेज दिया गया।
डीएम ने डीसीओ बीके पटेल को निर्देश दिए कि पेराई सत्र से पहले प्रयुक्त वाहनों में अनिवार्य रूप से रिफ्लेक्टर लगवाने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। डीएम ने निर्देश दिए कि बिना रिफ्लेक्टर लगाए वाहनों की गन्ने की तौल न की जाए। डीएम ने निर्देश दिए कि मॉडिफाइड साइलेंसर (तीव्र ध्वनि व फायर साइलेंसर का उपयोग) वाली बुलेट पर अभियान चलाकर प्रभावी कार्रवाई करते हुए सीज कराए। उन्होंने ई-चालान की अद्यतन प्रोग्रेस, पेंडेंसी चालान के निस्तारण की जानकारी प्राप्त की। अच्छा जिले में हिट एंड रन मामलों में दी जाने वाली सहायता की जागरूकता चलाई जाए।
एआरटीओ ने बताया कि भारत सरकार की ओर से जिन वाहनों की वैधता माह फरवरी सन 2020 को खत्म हो रही थी उसे 30 सितंबर 2021 तक बढ़ा दिया गया था। अतः सभी वाहन स्वामी अपने वाहन वैधता के दस्तावेजों को अपडेट करा लें। जिले में 30 सितंबर को स्कूली बच्चों को लाने व ले जाने में प्रयुक्त होने वाले काफी विद्यालय वाहनों की फिटनेस समाप्त हो रहा है। जिस पर डीएम ने स्पष्ट निर्देश दिए कि सड़क पर अनफिट वाहन मिले तो अधिकारी उन्हें तुरंत सीज करे, यह बच्चों से जुड़ा मामला है, इसमें किसी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त ना होगी। ऐसे चिन्हित वाहनों की सूची संबंधित थानाध्यक्षों को भी भेज दें। उन्होंने बताया कि अनफिट वाहनों की सीज होने का संपूर्ण उत्तरदायित्व संबंधित विद्यालय के प्रबंधक व संचालक का होगा। बैठक में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए चिन्हांकित ब्लैक स्पॉट पर आवश्यक सुधार, सड़कों पर यातायात संकेत, चेतावनी बोर्ड तथा पुराने वाहनों की सतत निगरानी करने ठोस प्रयास करने रणनीति बनी।
बैठक में एडीएम संजय कुमार सिंह, एएसपी अरुण कुमार सिंह, एसडीएम सदर डॉ अरुण सिंह, एआरटीओ रमेश कुमार चौबे, आलोक कुमार सिंह, डीसीओ बीके पटेल, एक्सईएन (पीडब्ल्यूडी) सीएल गुप्ता सहित समिति के अन्य सम्मानित सदस्य मौजूद रहे।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com