Monday , September 26 2022

श्मशान भूमि के पेड़ काटे जाने पर मोहल्ले वासियों ने जताया रोष

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

प्रतीकात्मक तस्वीर

फरीदपुर (बरेली) । मोहल्ला परा श्मशान भूमि में लगे लिप्टिस के दर्जन भर से अधिक पेड़ काटे जाने को लेकर मोहल्ले वासियों में रोष व्याप्त हो गया है। मोहल्ले वासियों ने श्मशान भूमि पर रहने वाले बाबा पर पेड़ कटवाने और उनको बेंच देने का आरोप भी लगाया है। मोहल्ला परा श्मशान भूमि में लगे 14 लिप्टस के पेड़ों को रातोंरात कटवा दिया गया। जब शमशान भूमि से पेड़ों की लकड़ी को लेकर ट्रॉली निकल रही थी तो लोगों ने उसे रोक लिया। लकड़ी के ठेकेदार ने बाबा से 34 हजार 700 रुपये में सौदा होने की बात बताई जिस पर मोहल्ले वासियों ने नाराजगी जाहिर की। श्मशान भूमि में रह रहे बाबा से जब पेड़ काटे जाने का कारण पूछा गया तो बताया श्मशान परिसर में इंटरलॉकिंग का कार्य होना है इसलिए पेड़ कटवाये हैं। वहीं नगर पालिका परिषद से जब श्मशान भूमि में इंटरलॉकिंग कराए जाने के बाबत जानकारी की गई तो बताया गया कि ऐसे किसी कार्य का प्रस्ताव नहीं हुआ है। यदि नगर पालिका द्वारा इंटरलॉकिंग कार्य कराए जाने का कार्य होता भी तो पेड़ों को हटवाने का कार्य वह स्वयं कराती। रातों रात श्मशान भूमि में लगे 14 पेड़ों के काटे जाने में बाबा की ही भूमिका है या इसके पीछे किसी और की भी मिलीभगत है मामला संदिग्ध बना हुआ है। फिलहाल पेड़ों की बिक्री से आई धनराशि को कमेटी के पास रखवा दिया गया है और उसे श्मशान भूमि के ही कार्यों में लगाया जाएगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com