Monday , October 3 2022

आगामी चुनाव को देखते हुए सपा ने पदाधिकारियों संग की बैठक

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

गाजीपुर। समाजवादी पार्टी की मासिक बैठक जिलाध्यक्ष रामधारी यादव की अध्यक्षता में पार्टी कार्यालय लोहिया भवन पर शनिवार को आयोजित हुई। इस बैठक में सांगठनिक कार्यों की समीक्षा करने के साथ-साथ हाल ही में दल में शामिल हुए पूर्व विधायक शिवगतुल्लाह अंसारी का 6 सितम्बर को पार्टी कार्यालय लोहिया भवन में आयोजित स्वागत समारोह को सफल बनाने के साथ-साथ 13 सितम्बर को लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय महासचिव राघवेन्द्र यादव, 17 सितम्बर को राष्ट्रीय महासचिव इन्द्रजीत सरोज, 18 सितम्बर को विधान परिषद सदस्य राम सुन्दर दास, 19 सितम्बर को पूर्व राज्यमंत्री रामकिशोर बिन्द व 26-27 सितम्बर को पार्टी के वरिष्ठ नेता मिठाई लाल भारती का जनपद आगमन पर आयोजित चौपाल एवं संगोष्ठी कार्यक्रम को सफल बनाने पर भी विस्तृत रूप से चर्चा की गयी। इस बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने जिम्मेदार पदाधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि चुनाव निकट है अब मैं सांगठनिक कार्यों में कोताही कत्तई बर्दाश्त नहीं करूंगा। जरूरत पड़ी तो गैर जिम्मेदार पदाधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने में भी नहीं हिचकुंगा। उन्होंने भाजपा की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि भाजपा जनता को गुमराह और झूठ बोलती है। भाजपा राज में सभी बुरी तरह परेशान हैं। जनता से जो भी वादे किए गए वह साढ़े चार साल में सरकार पूरा नहीं कर पायी। उन्होंने कहा कि किसान दुःखी है उसकी आय दोगुनी नहीं हुई, नौजवान की नौकरियां छूट गईं। नोटबंदी और जीएसटी की वजह से व्यापारी परेशान है। जनता के लिए जो व्यवस्था करनी थी वह भाजपा सरकार ने नहीं की। कोरोना संकट के समय जब जनता को सरकार की मदद की सबसे ज़्यादा जरूरत थी तब भाजपा सरकार ने लोगों को बेसहारा छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा राज में कोविड संक्रमण के दौर में मरीज दवा ढूढ़ते रहे। अस्पतालों में मरीजों को बेड नहीं मिले। आक्सीजन के अभाव में तमाम लोगों की जाने चली गई। आम जनता से भाजपा सरकार ने धोखा किया है। पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर किसान पर मंहगाई लाद दी गई है। बिजली मंहगी हो गई है। किसान ऐसे में आगे नहीं बढ़ सकता है। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने कहा कि जिन संस्थानों में नौकरियां मिल सकती थीं उन्हें बेचा जा रहा है। सरकारी कारखाने बिक रहे हैं। उन्हें मामूली पैसों में उद्योगपतियों के हाथ बेचा जा रहा है। राष्ट्रीय सम्पत्ति बेचने वाली सरकार गरीब की सरकार नहीं हो सकती। भाजपा सरकार उद्योग पतियों को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। सरकारी कम्पनियों के खत्म होने से आरक्षण का लाभ भी पिछड़ों, दलितों और गरीबों को नहीं मिल सकेगा। संविधान उन्हें जो अधिकार देता है वे भी हासिल नहीं हो पाएंगे। उन्होंने कहा कि 2022 में प्रदेश में भारी बहुमत की समाजवादी सरकार बनेगी। भाजपा इससे डरी हुई है। भाजपा के प्रति जनाक्रोश बढ़ रहा है। आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा को हार का निश्चित ही सामना करना पड़ेगा। इस बैठक में मुख्य रूप से पूर्व विधायक विजय कुमार, पूर्व मंत्री सुधीर यादव, पूर्व प्रमुख विजय यादव, अरुण कुमार श्रीवास्तव, जिला सचिव आमिर अली, ओमप्रकाश यादव, राजेंद्र यादव, तहसीन अहमद, भानु यादव, गोपाल यादव, कमलेश यादव, अनिल यादव, हरिनारायण यादव, जैहिन्द यादव, अशोक बिन्द, अहमर जमाल, रामवचन यादव, विश्राम यादव, परशुराम बिंद, संजय कन्नौजिया, हरेंद्र विश्वकर्मा, उमाशंकर यादव, रामदरश यादव, मुन्नीलाल राजभर, रानू मिश्रा, आदित्य यादव, चन्द्रेश्वर यादव उर्फ पप्पू, राजेश गोंड, विजय शंकर चौरसिया, आलोक कुमार, अमित ठाकुर, सूरज राम बागी, सुभाष यादव, लल्लन राय, सुदामा राम, रिषु यादव, संदीप यादवेन्द्र, बृजकिशोर यादव, सुशीला गोड़, पारस यादव, ग्यासुद्दीन अहमद, अशोक यादव एवं रजनी कांत यादव आदि उपस्थित थे। बैठक का संचालन जिला उपाध्यक्ष कन्हैया लाल विश्वकर्मा ने किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com