Wednesday , September 28 2022

रिटायर्ड लिपिक मौत मामला: 15 दिनों बाद भी सभी हत्यारोपी पुलिस की पकड़ से दूर

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

फ़ाइल फोटो

सोनभद्र । कोन थाना क्षेत्र के मिश्री गाँव में 16 अगस्त की शाम इंटर कॉलेज के सेवानिवृत्त लिपिक की संदिग्ध हाल में मौत हो गयी थी। मामले में पुलिस ने मृतक के छोटे पुत्र ने गाँव के ही 5 लोगों के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन 15 दिन बीत जाने के बाद भी सभी हत्यारोपी पुलिस गिरफ्त से दूर है। पुलिस उसे लाख कोशिशों के बावजूद गिरफ्तार करने में नाकाम साबित हो रही है। जिससे परिजनों सहित ग्रामीणों में रोष है।

बताते चलें कि कोन थाना क्षेत्र के मिश्री गांव निवासी राजकुमार (62वर्ष) कोन इंटर कॉलेज में लिपिक के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। उनका पट्टीदारों से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। इसी मामले में 16 अगस्त की देर शाम पुलिस गांव पहुंची थी। राजकुमार के पुत्र उपेंद्र नाथ और चंद्रप्रकाश का आरोप है कि 16 अगस्त को पुलिस उनके पिता को विपक्षियों के घर लेकर गयी थी। वहाँ पुलिस और विपक्षियों ने उनके पिता को पहले डांटा और फिर पिटाई की, जिससे उनकी मौत हो गई। राजकुमार की मौत के बाद परिजनों सहित ग्रामीणों में कोहराम मच गया था। आक्रोशित ग्रामीणों ने थाने पहुँच हंगामा किया था जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए लोगों को मौके से खदेड़ कर मामला शांत कराया था। देर रात जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने भी मौके पर जाकर निरीक्षण किया था और मामले में घोर लापरवाही बरतने के कारण तत्कालीन कोन थाना प्रभारी समेत हल्का दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया गया था। वहीं मृतक के छोटे पुत्र चन्द्र प्रकाश दुबे की तहरीर पर पुलिस ने देवकी नारायण दुबे, हृदय नारायण दुबे पुत्रगण अयोध्या दुबे, संजय दुबे पुत्र कृष्णा दुबे व उनकी पत्नी निर्मला दुबे व पुत्री छोटी दुबे के खिलाफ धारा 302, 147, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था।

पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि “मामले की विवेचना की जा रही है साथ ही हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीमें भी लगाई गई हैं। जल्द सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com