Monday , October 3 2022

नाली खुदाई में गरीब का उजड़ा आशियाना, परिवार खुले आसमान के नीचे बसर करने को विवश

विनोद कुमार (संवाददाता)

शहाबगंज।करनौल गांव में पानी निकासी के लिए खुदाई के कारण दो परिवारों का कच्चा रिहाईशी मकान ही गिरकर गया।जिससे पुरा परिवार खुले आसमान के नीचे गुजारा करने को विवश हो गया।वहीं प्रधान के इस कार्यप्रणाली को लेकर पीड़ित परिवारों में आक्रोश व्याप्त है।करनौल गांव में जाम हो चुके सीवर के कारण दलित बस्ती में मेन सड़क पर जल जमाव हो जा रहा था।जिसके कारण आवागमन में समस्या हो रही थी।वहीं आये दिन गिरकर लोग घायल भी हो रहे थे।आमजन की इसी समस्या को देखते हुए ग्राम प्रधान ने शुक्रवार को नाली खुदाई कराकर सीवर निकालने का कार्य प्रारम्भ कराया।सीवर की पाईप निकालते ही राजेश पुत्र रामकृत व श्याम सुन्दर पुत्र विजयी का कच्चा रिहायशी मकान भरभरा कर गिर गया।जिसके कारण दोनों परिवार खुले आसमान के नीचे आ गये।वहीं मकान के अंदर दबे गृहस्थी के सामानों को निकालने के कार्य में भी जूट गये।वहीं बिना तैयारी के ग्राम प्रधान द्वारा किये गये कार्य को लेकर दोनों परिवारों में आक्रोश ब्याप्त है।पीड़ित श्याम सुन्दर ने बताया कि भाईयों के बंटवारा में मुझे कच्चा मकान मिला।पति पत्नी के साथ चार बच्चे साथ रहते है।प्रधान द्वारा नाली खुदाई किये जाने की जानकारी होने पर मैंने बरसात बाद कार्य प्रारम्भ कराने की फरियाद लगायी।लेकिन प्रधान नहीं माने और नाली की खुदाई कराया जिसका परिणाम है कि कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया।ग्रामप्रधान मुनिराज यादव ने कहां कि मकान जर्जर था।पानी निकासी के लिए नाली खुदाई के दौरान गिर गया है।लेखपाल बुलाकर जांच कर मुवायजा दिलाया जायेगा।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com