Monday , October 3 2022

सिस्टम का हाल : यह है जिले की असली ट्रैफिक व्यवस्था

विवेकानंद मिश्रा (संवाददाता)

शाहगंज क्षेत्र की यह तस्वीर यह बताने के लिए काफी है कि जिले में ट्रैफिक व्यवस्था क्या है । न किसी का डर और न कोई चेकिंग । जान जोखिम में डालकर चल रहे इस ऑटो की वास्तविक क्षमता 3+1 की है लेकिन कमाई के चक्कर में किस तरह ऑटो की छत ओर भी सवारियों को बिठा रखा है । जिले में ट्रैफिक पुलिस जरूर है लेकिन उसकी उपस्थिति कहाँ है यह तो अधिकारी ही बता सकते हैं लेकिन चौराहे पर चेकिंग के नाम पर खड़े ट्रैफिक पुलिस को यह सब क्यों नहीं दिखता यह समझ से परे नहीं है बल्कि ये सभी उनके सिस्टम में हैं ।
किसी बड़ी घटना-दुर्घटना के बाद जागने वाली पुलिस यदि पहले ही जग जाय तो शायद जिले में काफी हद तक घटना कम हो जाय लेकिन खुद के सिस्टम के आगे सरकार के सारे नियम कानून फेल है ।
यूं देखा जाय तो प्रशासन से ज्यादा दोषी सवारियां हैं जो पैसा देने के वावजूद खुद जान जोखिम में डालकर चल रहे हैं ।
प्रशासन को जरूरत है सवारियों से अधिक बैठे लोगों पर भी कार्यवाही करने की ताकि यातायात नियमों का पालन हो सके । हां, लेकिन पुलिस को भी अपना सिस्टम छोड़ना होगा ।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com