Wednesday , October 5 2022

फिर दागदार हुई ख़ाकी, अबकी बार भाजपा कार्यकर्ता हुआ शिकार, बवाल

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

० कार्यकर्ताओं ने किया वाराणसी-शक्तिनगर राजमार्ग जाम

– भाजपा कार्यकर्ता ने पुलिस पर मारने का लगाया आरोप

– भाजपा कार्यकर्ता ने कहा, कार्यवाही नहीं हुई तो छोड़ दूंगा घर व पार्टी

– सीओ ने जांच कर कार्यवाही का दिया भरोसा

– घण्टों जाम रहा चोपन हाइवे

चोपन । अभी कोन थाने का मामला शांत भी नहीं हुआ कि ख़ाकी एक बार फिर दागदार हो गई । इस बार ख़ाकी के ऊपर भाजपा कार्यकर्ता को ही पीटने का आरोप लगा है ।
दरअसल भाजपा के गुरमा बूथ अध्यक्ष अमरनाथ पनिका गुरुवार को स्थानीय बैंक से पैसा निकालने गए थे । बैंक से पैसा निकालकर वे पैसों को गिनने लगे, तभी मौके पर गुरमा चौकी इंचार्ज आ धमके और पनिका को गाली-गलौज करते हुए मारने लगे। वहां अपमानित होकर भाजपा कार्यकर्ता किसी तरह अपने घर पहुंचा और आज चोपन में पहुंचकर भाजपा नेताओं को घटना की जानकारी दी ।

जिसके बाद चोपन के भाजपा नेताओं ने चौकी इंचार्ज पर कार्यवाही की मांग को लेकर वाराणसी – शक्तिनगर हाइवे को जाम कर दिया । जाम लगते ही एम्बुलेंस सहित गाड़ियों की लंबी कतारें लग गयी । भाजपा नेता बिना कार्यवाही के सड़क से उठने को तैयार नहीं थे लेकिन सीओ के समझाने के बाद भाजपाई चोपन थाने में वार्ता के लिए तैयार हुए । इधर जाम की खबर मिलते ही एसडीएम भी मौके ओर पहुँच गए। घण्टों चोपन थाने में वार्ता चली लेकिन कोई निष्कर्ष नहीं निकला । भाजपाई चौकी इंचार्ज पर कार्यवाही के लिए अड़े थे तो वही सीओ व एसडीएम जांच कर कार्यवाही की बात कह रहे थे ।

मामला सूलझता न देख पीड़ित भाजपा कार्यकर्ता का कहना है कि यदि कार्यवाही नहीं हुई तो वह घर नहीं जाएगा । क्योंकि उसे डर है कि उसे पुलिस झूठे मुक़दमें में फंसा सकती है । भाजपा कार्यकर्ता पनिका ने तो यहां तक कह दिया कि यदि कार्यवाही नहीं होती है तो वह पार्टी से इस्तीफा दे देगा । क्योंकि पुलिस ने पूरे जनजाति पर प्रहार किया है ।
बहरहाल समाचार लिखे जाने तक सीओ ने जांच कर कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया है ।

बहरहाल पुलिस द्वारा जांच के बाद कार्यवाही करने का आश्वासन भले ही दिया गया हो मगर जिस तरह से भाजपा नेताओं को खुद की सरकार में सड़क से लेकर थाने तक धरना देना पड़ा और रिजल्ट भी सिफर रहा, ऐसे में यह कहा जा सकता है कि योगी सरकार भले ही सूबे में कानून का राज कायम होने का दावा करती हो मगर उन्ही के पार्टी के नेता पुलिसिया डर से घर छोड़ बाहर रहने की बात कर रहे हैं ।
अब देखना है कि ख़ाकी पर लगा यह दाग रहता है या फिर मिटता है ।

इस पूरे प्रकरण के दौरान मौके पर संजीव त्रिपाठी, रविंद्र गर्ग, सुनील सिंह, रंजना सिंह, दीपक दूबे, विकास चौबे, संदीप पांडेय, महेंद्र केशरी, तेजवंत पांडेय, मनीष सिंह, मनोज सिंह सोलंकी, सुनीता पांडेय, भोला जायसवाल, समेत सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com