Friday , September 30 2022

डीएम के हस्तक्षेप के बाद दुशान ने किया मजदूरों की लंबित मजदूरी का भुगतान

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

डीएम के हस्तक्षेप के बाद मजदूरों का तीन महीने का लम्बित मजदूरी 40.41 लाख हुआ भुगतान

सोनभद्र । पिछले तीन महीने से ओबरा ‘सी’ प्लांट निर्माण कर रही दुशान कंपनी पर 150 मजदूरों ने तीन माह का मजदूरी भुगतान नहीं करने का आरोप लगाते हुए कंपनी के खिलाफ धरने पर बैठ गए।

पूरे मामले की जानकारी जब जिलाधिकारी को हुई तो उन्होंने तत्काल अपर श्रमायुक्त पिपरी सुरजू राम को निर्देशित किया कि सभी 150 मजदूरों की बकाया मजदूरी की आर0सी0 जारी करके दुशान कम्पनी से 40 लाख 41 हजार 115 रूपये प्राप्त कर मजदूरों के खाते में पैसे भेजें।

इस दौरान जिलाधिकारी ने जिले में कार्यरत कंपनियों को चेताते हुए कहा कि “किसी भी हाल में मजदूरों के मेहनत का पैसा किसी के द्वारा रोका नहीं जायेगा। काम कराने वाले कम्पनियां हर हाल में समयबद्ध तरीके से मजदूरों के भुगतान करना सुनिश्चित करेंगी, जो कम्पनी मजदूरों के हितों के साथ खिलवाड़ करेगी, उनके खिलाफ लेबर एक्ट के तहत कार्यवाही भी की जायेगी।”

अपर श्रमायुक्त पिपरी सुरजू राम ने जानकारी देते हुए बताया कि “निर्माणाधीन ओबरा पावर प्लांट की कार्यदायी संस्था दुशान कम्पनी द्वारा लगभग 150 मजदूरों से काम कराने के बावजूद तीन महीने से मजदूरी का भुगतान नहीं किया जा रहा था, जिसकी जानकारी जिला प्रशासन के संज्ञान में आने पर श्रम विभाग द्वारा बकाया मजदूरी 40 लाख 41 हजार 115 रूपये की रिकवरी सर्टिफिकेट जारी करके दुशान कम्पनी से 40 लाख 41 हजार 115 रूपया वसूल करते हुए सम्बन्धित मजदूरों के खातों में उनकी मेहनत की मजदूरी के पैसे सीधे खातों में भेज दिये गये हैं।”

उन्होंने बताया कि मात्र 6 मजदूरों के खातों में त्रुटि होने के कारण उनके मजदूरी का पैसा चेक के माध्यम से भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि मजदूरों के मजदूरी के भुगतान न होने की शिकायत प्राप्त होने पर तत्परता के साथ जिला प्रशासन कार्यवाही करते हुए मजदूरी दिलाने का कार्य करेगी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com