Thursday , September 29 2022

कच्चा मकान गिरा, बाल बाल बचे दंपति, हजारों का नुकसान

आर के (संवाददाता)

-ग्राम पंचायत अहीर बुदावा की घटना

सागोबांध। दूसरी बार 2019 में मोदी सरकार आई थी तो उन्होंने कहा था कि 2022 तक सभी के सिर पर पक्का छत होगा मगर अभी तक गांव में करीब 30 परसेंट पक्के मकान ही देखने को मिलता है । जाड़ा गर्मी में तो गरीब ग्रामीण किसी तरह से गुजर बसर कर लेते हैं मगर बरसात आते ही उनका आशियाना गिरने का हमेशा खतरा बना रहता है । महीने भर से रुक रुक कर झमाझम बारिश ने कच्चे मकान के अस्तित्व को ही संकट में डाल दिया है।

छत्तीसगढ़ सीमा से सटे अहीर बुढ़वा में आज रात पंकज कुमार यादव पुत्र अमृतलाल यादव का दो छत्ती कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया। संयोग यह रहा कि उस समय दोनों दंपत्ति बाहर निकले थे। पंकज कुमार ऊपर छत पर किराना का दुकान व ठंडे का दुकान चला कर अपना जीवन यापन करते था । भरभरा कर मकान धराशाई होने से उसका किराना का सामान डिफ्रिजर सहित लगभग 30 -40 हजार का सामान बर्बाद हो गया।

ग्राम प्रधान सत्यनारायण ने इसकी सूचना क्षेत्रीय लेखपाल संजय कुमार यादव को दिया। लेखपाल ने बताया कि हमने मौका मुआयना कर लिया है पीड़ित व्यक्ति का आधार कार्ड, पासबुक प्राप्त कर लिया है। मेरा प्रयास रहेगा कि क्षति के बराबर मुआवजा मिले ।

आपको बतादूँ कि कल चुर्क क्षेत्र के हरहुआ बिजरी गांव में कच्चा मकान गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई थी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com