Thursday , September 29 2022

1 सितंबर को विभिन्न मांगों को लेकर भाकपा करेगी प्रदर्शन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

विद्युत (संशोधन) बिल 2021 के विरुद्ध विद्युत कर्मचारियों और अभियन्ताओं की राष्ट्रव्यापी हड़ताल का किया समर्थन

सोनभद्र । आज भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी सोनभद्र जिला कौंसिल की बैठक पार्टी के क्षेत्रीय कार्यालय पर संपन्न हुई। बैठक में सर्वप्रथम काकोरी कांड के महानायकों को नमन करते हुए उनके प्रति क्रान्तिकारी कृतज्ञता ज्ञापित की गयी।

बैठक में नेताओं ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आज के ही दिन 1925 को भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के क्रांतिकारियों द्वारा ब्रिटिश राज के विरुद्ध भयंकर युद्ध छेड़ने की इच्छा से हथियार खरीदने के लिये ब्रिटिश सरकार का खजाना लूटने को लखनऊ के निकट काकोरी स्टेशन पर ट्रेन रुकवा कर इस महान घटना को अंजाम दिया गया था। इस दौरान कम्युनिस्ट, सोशलिस्ट और कांग्रेस आदि विचारधाराओं के भारत छोड़ो आंदोलन के अमर नायकों के प्रति भी सम्मान व्यक्त किया गया और उनके प्रति क्रान्तिकारी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।

बैठक में विद्युत (संशोधन) बिल 2021 के विरुद्ध कल 10 अगस्त को होने जा रही विद्युत कर्मचारियों और अभियन्ताओं की राष्ट्रव्यापी हड़ताल को समर्थन प्रदान करने का निर्णय लिया गया। वामदलों की कतारों का आह्वान किया गया कि वे इस हड़ताल को पूर्ण समर्थन प्रदान करें।

बैठक में प्रमुख एजेंडा पीड़ित जनता के विभिन्न सवालों पर आंदोलन करने का था। सर्वसम्मत निर्णय लिया गया कि महंगाई पर कारगर रोक लगाने, डीजल पेट्रोल, रसोई गैस पर लगे असहनीय टैक्सों को पर्याप्त मात्रा में घटाने, हर बेरोजगार को काम दिलाने, मनरेगा में 200 दिन काम और प्रतिदिन 600 रुपये मजदूरी दिलाने, इस तरह की योजना शहरों में चलाये जाने, दवाओं और खाद्य वस्तुओं के दाम बांधने, हर व्यक्ति को रुपए 7500/- प्रति माह दिये जाने, खाने की सभी सामाग्री किट के रूप में उपलब्ध कराये जाने, टीकाकरण में तेजी लाने, जनता पर बोझ बढ़ाने वाले बिजली बिल 2021 को वापस लेने, तीन कृषि क़ानूनों को वापस कराने, एमएसपी की गारंटी करने, योगी सरकार द्वारा दमनकारी असंवैधानिक आलोकतांत्रिक रवैया रोके जाने, कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने, दलितों अल्पसंख्यकों महिलाओं व अन्य कमजोर तबकों पर अत्याचार रोके जाने, भ्रष्टाचार पर कारगर रोक लगाने आदि सवालों पर पार्टी और जनवादी संगठनों द्वारा 1 सितंबर 2021 को जिला मुख्यालय पर संयुक्त प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया।

केन्द्र और उत्तर प्रदेश सरकार अंध निजीकरण से बाज आये, पैगासस कांड की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में करायी जाये, स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार और सुधार किया जाये, गरीब बच्चों की पढ़ाई में हुयी हानि की भरपाई की जाये तथा आंदोलनकारी किसानों से सरकार तत्काल वार्ता करे , जनपद में आदिवासियों के हो रहे लगातार उत्पीड़न के सवालों को भी उठाया जाएगा।

इस अवसर पर पार्टी के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा, कामरेड प्रेमचंद गुप्ता, कामरेड संजय रावत, कामरेड राज कुमार कोल, कामरेड राम सुरत खरवार, कामरेड बुद्धि राम खरवार, कामरेड राम नारायण गोंड, कामरेड रामविलास चेरो, कामरेड इसरावती पनिका, कामरेड फुलमती, कामरेड राम लखन, कामरेड अमरनाथ आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। बैठक की अध्यक्षता कामरेड कन्हैया लाल ने और संचालन किसान नेता कामरेड शिवशंकर मिश्रा ने किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com