Tuesday , October 4 2022

सावधान ! आवास व शौचालय के लालच में कहीं आप भी साइबर क्राइम के शिकार न हो जाएं

संजय केसरी/अर्जुन मौर्या (संवाददाता)

डाला । प्रदेश में साइबर क्राइम की घटना लगातार बढ़ रही है । यूपी पुलिस साइबर क्राइम को लेकर जितनी शक्ति दिखाने की कोशिश कर रहे हैं । साइबर क्राइम करने वाले उसे विफल करते हुए एक कदम आगे बढ़कर नई तरह की घटना को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दे रहे हैं ।

मामला सोनभद्र के चोपन थाना क्षेत्र का है । जहां ग्राम पंचायत कोटा के टोला कानो पान में बीते 29 जुलाई की शाम कुछ साइबर क्राइम से जुड़े लोग अधिकारी बनकर पहुंचे और शौचालय भरवाने व दिलवाने के नाम पर कुछ ग्रामीणों के खाते से अंगूठा लगवाकर चले गए । उनके जाने के बाद कुछ ग्रामीणों को शक हुआ तो वे अगले दिन बैंक पहुंचकर अपना पासबुक चेक कराया । खाता चेक करते ही ग्रामीणों के होश उड़ गए, सभी के खाते से पैसा निकल गया था ।

ग्रामीणों ने बताया कि बीते 29 जुलाई को शाम लगभग 3 बजे दो युवक गांव में कुछ लिस्ट लेकर पहुंचे । वे सूची देखकर लोगों को अपना आवास, शौचालय भरवा कर चेक करा लेने की बात कहने लगे। अपना लाभ देखकर ग्रामीण धीरे-धीरे जुटने लगे। उंसके बाद दोनों युवकों ने सभी के आधर कार्ड मांगा और चेक करने व भरने के नाम अनूठा लगवाना शुरु कर दिया। ग्रामीण जब शक होने पर शुक्रवार को अपने खाते का बैलेंस चढ़वाने बैंक पहुंचा तो पता चला कि सुखदेव पुत्र बोधन के खाते से 2000 (दो हजार), फुलमतिया पत्नी रामबिलास के खाते से 5000 (पांच हजार), क़िस्मतीया पत्नी रामप्रसाद, 150 (एक सौ पच्चास) मानकुँवर पत्नी दसई के खाते से 5000 (पांच हजार), सुबित्री पत्नी सुखलाल के खाते से 1000 (एक हजार), भगवान दास पत्नी सुखदेव के खाते से 4000 (चार हजार), बुधनी पत्नी राम सिंह के खाते से 1000 (एक हजार), व राम सुंदर पुत्र लोकई के खाते से 1000 (एक हजार) रुपये निकाल लिए गए हैं।

इस संदर्भ ने ग्राम प्रधान प्रह्लाद चेरो ने बताया कि वे ग्रामीणों के साथ हुए घटना की निंदा करते हैं और एक बार पूरे गांव में मुनादी कराई जाएगी कि आवास व शौचालय का फार्म अंगूठा लगवा कर नहीं भरवाया जाता। अगर किसी को जानकारी चाहिए तो पंचायत भवन पर आए व उनसे मिलें। ग्रामीणों के साथ हुए इस घटना से ग्रामीण परेशान हैं।
आपको बतातें चलें कि ग्रामीणों के साथ ऐसी घटनाएं अक्सर ग्राहक सेवा केंद्र पर बैलेंस चेक कराने में व आवास भरवाने के चक्कर मे होते रहे है। इन मामलों में डाला चौकी से कई बार कार्यवाही भी की गई है व पैसा भी वापस कराया गया है।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com