Wednesday , September 28 2022

सोनभद्र में बारिश का कहर, दो विधानसभा में मचाई तबाही, पढ़े पूरी खबर

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । सोनांचल में पिछले दो दिनों से हो रही लगातार मूसलाधार बारिश ने लोगों के जनजीवन पर बड़ा असर डाला है । बारिश का सबसे ज्यादा प्रभाव रावर्ट्सगंज व घोरावल विधान सभा में देखा जा सकता है । रविवार सुबह जैसे ही कुछ बारिश कम हुई तो लोगों का गुस्सा फूट पड़ा । रावर्ट्सगंज क्षेत्र के बिजौली गांव के लोग घरों से बाहर निकलकर सड़कों पर आ गए और पन्नूगंज मार्ग को जाम कर दिया ।

वहीं चुर्क क्षेत्र में भी बारिश के कहर ने कई लोगों को भूखा रख दिया । लोगों का कहना लगातार बारिश से उनके घर में रखा सारा अनाज भींग गया जिससे खाने के लाले पड़ गए ।

ऐसा नहीं कि बारिश अचानक से आ गया । लगातार मौसम विभाग की चेतावनी भी आ रही थी लेकिन प्रशासन बाढ़ के लिए कितना तैयार रहता है और उसकी किस तरह की तैयारी थी यह तो दो दिनों के बारिश ने सारे दावे की पोल खोलकर रख दी । सोनभद्र मुख्यालय का भी नजारा देखते ही बन रहा था । रावर्ट्सगंज के कई जगहों पर जलजमाव ने लोगों की रफ्तानी तक रोक दी । लोग खुद अपनी व्यवस्था के साथ पानी को निकालने में जुटे रहे ।

घोरावल विधानसभा में भी बेलन नदी में उफान आने से कई गांवों में पानी घुस गया और कई कच्चे घरों को नुकसान पहुंचा है । कर्मा के ग्राम पंचायत बारी महेवा के उंचका टोले की मौर्या बस्ती के 17 लोग बेलन नदी में आयी बाढ़ मे फंस गए हैं। मौके पर पहुंचे तहसीलदार घोरावल और एसएसआई विनोद कुमार यादव नाव की व्यवस्था कर सभी लोगों को निकालने के लिए प्रयास मे लगे हुए हैं।

जनपद न्यूज़ live पर खबर चलने के बाद जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने सभी प्रधानों और सचिवों, एडीओ पंचायतों को निर्देशित किया कि “वर्तमान समय में जनपद में भारी बारिश हो रही है, जिससे कई गाँवों में कई घरों में पानी भर जा रहा है जिससे लोगों को परेशानी का सामान करना पड़ रहा है और खाने पीने की भी समस्या हो रही है, वहीं कुछ घर भी गिरने की सूचना मिल रही है। समाज के अत्यंत महत्वपूर्ण वर्ग के रूप में मौजूद ग्राम प्रधानों होते हैं। इसलिए वह इस स्थिति में ग्राम पंचायत के आवश्यकता ग्रस्त व्यक्तियों को बारिश के पानी से निकाल कर किसी विद्यालय या पंचायत भवन या सरकारी भवन में शिफ्ट कराएँ और उनके खानपान की व्यवस्था भी की जाएँ। पानी निकल जाने के बाद उन स्थानों पर ब्लीचिंग पाउडर इत्यादि का भी छिड़काव करें जिससे बारिश के बाद होने वाली बीमारियों से भी बचा जा सके।परंतु वर्तमान समय में प्राथमिकता के आधार पर समस्त व्यक्ति जिनके घर गिर गए एवं उनके घरों में पानी भर गया है उन्हें वहां से निकलवा कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में मदद करें।”

बहरहाल हर साल प्रशासन द्वारा बाढ़ को लेकर लम्बी बैठकें की जाती हैं और कागजों पर बड़े बड़े फार्मूले तैयार किये जाते हैं। मगर प्रशासन की तैयारी कितनी रहती है यह तो दो दिनों की बारिश ने ही सारे दावे व तैयारियों की पोल खोल कर रख दी।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com