सीएमओ ने दिया वेतन रोकने का आदेश

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

गाजीपुर। नवागत मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. हरगोविंद सिंह के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का लगातार निरीक्षण किया जा रहा है। इसी के क्रम में शुक्रवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनिहारी और जखनिया का उन्होंने औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान मनिहारी स्वास्थ्य केंद्र पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा सब कुछ ठीक-ठाक पाया गया। जबकि जखनिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सा अधीक्षक पिछले तीन दिनों से बिना किसी पूर्व सूचना के नदारद मिले। कई अन्य स्टाफ भी गायब मिले। इसको गंभीरता से लेते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सभी का वेतन रोकने का निर्देश दिया।
एसीएमओ डा. प्रगति कुमार ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. हरगोविंद सिंह के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनिहारी पर औचक निरीक्षण किया गया। वहां पर सभी डाक्टर और स्टाफ मौके पर मिले और सफाई तथा अन्य व्यवस्था दुरुस्त पाई गई। इसके पश्चात मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जखनिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। वहां पर चिकित्सा अधीक्षक डा. योगेंद्र यादव बिना किसी पूर्व सूचना के पिछले 3 दिन से गायब मिले। इसके अलावा डा. अभिषेक मौर्य डेंटल सर्जन, अनिल कुमार नेत्र परीक्षण अधिकारी, माया सोनकर डेंटल हाइजीनिस्ट, सुनीता भारतीय एएनएम, ऊषा यादव एएनएम, साधना निगम एएनएम, राजेश कुमार यादव डीआरए, शिवलाल यादव, राजेश प्रजापति स्टाफ नर्स पुरुष, सुनील कुमार यादव वार्डबॉय, अवधेश गुप्ता एसटीएस एवं डा. एसके सिंह एमओ आरबीएसके ड्यूटी से नदारद मिले। इस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी का वेतन रोकने का आदेश दिया। इसके अलावा केंद्र पर स्टाक रजिस्टर भी अपडेट नहीं मिला और सफाई व्यवस्था दुरुस्त न मिलने पर नाराजगी जाहिर किया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!