जौनपुर में फूड प्वाईजनिग से चार लोगों की मौत

जौनपुर के बरसठी ब्लॉक के सिरौली (रनापुर) गांव के बनवासी बस्ती में फूड प्वाईजनिग से चार लोगों की मौत हो गई। जबकि अन्य कई लोगो का विभिन्न निजी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। बस्ती में दो परिवार से चार लोगों की मौत की दहशत के बाद स्वास्थ्य विभाग से आई टीम ने दवा छिड़काव व वितरण कर जरूरी सलाह दिया। बस्ती के दहशतजदा भूखे-प्यासे दर्जनों से ज्यादा लोग घर छोड़कर अन्यत्र चले गए। घटना के संदर्भ में बताया गया कि, बीते 22 जुलाई को बस्ती में चौथी के कार्यक्रम में मीट की दावत के बाद एक-एक कर लोग फूड प्वाईजनिग की चपेट में आ गए हैरत की बात ये है कि, परिवार के चार लोगो ने सही इलाज न करवाकर झाड़-फूंक के चक्कर मे अपनी जान गवाने के बाद गांव के लोगो ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। सूचना मिलते ही स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया आनन-फानन में बस्ती में एक टीम भेजी गई और गांव तथा बस्तियो में फॉगिंग कराकर बचे हुए लोगो को निगरानी में रखा है। पीड़ित परिजनों से बातचीत में पता चला है कि, नेमा 20 जुलाई को कही से मीट लेकर आई थी। परिवार में मिल बाटकर खाया। इसके दो दिन बाद फिर परिवार के ही सूरज बनवासी के यहां चौथी के कार्यक्रम पर मीट बना जिसे लगभग 80 लोगो खाया था, खाने के बाद तबियत बिगड़ी और उल्टी-दश्त शुरू हो गई। अस्पताल न जाकर सभी झाड़-फूंक के चक्कर मे पड़ गए जिसके चलते 23 जुलाई को नेमा की मौत हो गई। इसके बाद बबली ने भी दम तोड़ दिया। दूसरे परिवार की नंदनी पुत्री पिंटू की तबियत भी काफी खराब हो गई झाड़-फूंक के दौरान उसकी भी मौत हो गई और सूरज बगल के गांव पिलकथुआ रिश्तेदारी गया था वह भी नही बच सका। धड़ाधड़ चार लोगों की मौत के डर बस दर्जनों भूखे-प्यासे लोग बस्ती छोड़ कर चले गए है। जबकि कांता बनवासी, रोशनी, किशन, झुम्मन उपचार के बाद पहले से स्वस्थ्य बताए जा रहे है। गुरुवार को रनापुर गांव में सीएमओ डॉ लक्ष्मी सिंह, डिप्टी सीएमओ डॉ राजिव यादव समेत बरसठी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दौरा कर सभी को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए खान-पान, साफ़-सफाई बीमार होने पर झाड़-फूंक के चक्कर मे न पड़ कर तत्काल इलाज कराने की सलाह दिया। सीएमओ ने कहा कि, दो बच्चों समेत चार लोगों की मौत फूड प्वाइजनिग से हुई है। सभी ने 22 जुलाई को एक कार्यक्रम में सुअर का मिट बना कर खाया था, उसी के बाद हालत बिगड़ी है। इलाज न कराकर झाड़-फूक के चक्कर मे जान गवानी पड़ी। दोपहर बाद जिले से खाद्य सुरक्षा व औषधि प्रशासन अधिकारी ने भी जांच कर वापस लौट गए।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!