आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण में लापरवाही पड़ेगी भारी- जिलाधिकारी

० दो सप्ताह में कार्य पूर्ण करने का दिया सख्त आदेश

चंदौली। राष्ट्रीय पोषण मिशन के अंतर्गत पोषण अभियान से संबंधित जिला कन्वर्जेंस की बैठक जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद को कुपोषण मुक्त करने हेतु शासन द्वारा चलाई जा रही पोषण मिशन योजना को भौतिक धरातल पर पूरी ततपरता के साथ लागू किया जाय। कुपोषित/ अति कुपोषित बच्चों को समुचित पोषाहार व उनके स्वास्थ्य की देखभाल करते हुए उन्हें लाल श्रेणी से बाहर लाने हेतु विभागीय गाईड लाइन के अनुसार सभी आवश्यक कदम उठाए जाय।निर्धारित तिथियों के अनुसार पोषण मिशन के अंतर्गत चलाये जा रहे कार्यक्रमों गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण, उनका पोषण, समय समय पर स्वास्थ्य जांच,बच्चों का वजन, समय से टीकाकरण, बच्चों के समुचित पोषण की दिशा में सार्थक प्रयास किये जाय जिससे कुपोषण से शीघ्र मुक्ति मिल सके। उन्होंने विशेष रूप से बाल विकास व स्वास्थ्य विभाग को इस दिशा में पूरी गंभीरता व संवेदनशीलता के साथ कार्य करने का निर्देश दिया।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि पोषाहार के रूप में दिया जाने वाला ड्राई राशन व अन्य पौष्टिक सामग्रियां शतप्रतिशत लाभार्थियों को समय से वितरण सुनिश्चित हो। पुष्टाहार वितरण में कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। समीक्षा के दौरान आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण की प्रगति असंतोषजनक पायी जाने पर नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि इसमें अपेक्षित तेजी लाई जाय। आगे अब लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कड़े निर्देश देते हुए कहा कि 15 दिवस के अंदर लक्ष्य के सापेक्ष सभी आंगनबाडी केन्द्र, पोषण वाटिका, स्वच्छ शौचालय का निर्माण प्रत्येक दशा में पूर्ण करा लिया जाय अन्यथा संबंधित निर्माण एजेंसियों के साथ ही विभागीय अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने संबंधित बाल विकास परियोजना अधिकारियों को निर्माण कार्य की सतत निगरानी करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित खण्ड विकास अधिकारियों तथा अवर अभियंता ग्रामीण विकास को नवनिर्मित व निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केंद्रों की गुणवत्ता जांच करने हेतु निर्देशित किया। किशोरी बच्चियों को दी जाने वाली आयरन की गोली की कमी की जानकारी
पर पर्याप्त मात्रा में आयरन की गोलियां उपलब्ध कराने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए।
समीक्षा बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री अजितेंद्र नारायण, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला कार्यक्रम अधिकारी नीलम मेहता, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, खंड विकास अधिकारी, बालविकास परियोजनाधिकारी गण सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!