जनसंख्या नियंत्रण कानून पर विधायकों के बिगड़े बोल, आप भी सुने जनप्रतिनिधियों की भविष्यवाणी

जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे नेताओं की जुबान भी फिसलने लगी है । हर कोई इन दिनों टीआरपी बटोरने में जुटा हुआ है। बीजेपी व उंसके सहयोगी दलों के नेता जनसंख्या बृद्धि के लिए एक विशेष समुदाय को ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं । मगर 2017 विधानसभा चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग के वेवसाइट पर दर्ज आंकड़ों पर नजर डालें तो बीजेपी के 304 विधायकों में से 152 के 3 से लेकर 8 बच्चे तक हैं। फिर भी इस समस्या के लिए एक समुदाय विशेष पर ही लगाम लगाने की बात कह रहे हैं ।

वहीं ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि जनसंख्या कानून लाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा बल्कि जागरूक करने की जरूरत है ।

उनका कहना है कि अगर सरकार ये क़ानून बनाती है तो ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अदालत जाएगी क्योंकि इस कानून के ज़रिए एक क़ौम को टारगेट किया जा रहा है।

हालांकि कई नेता तो इस कानून को ही खतरनाक बता रहे हैं । उनका मानना है कि बहुत सोच समझ कर इस कानून को लाना चाहिए ।

कुल मिलाकर योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर जरूर उत्साहित है लेकिन इसे लागू करना उतना आसान नहीं । अब देखना है कि सरकार इस ड्राफ्ट पर कब चर्चा कराती है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!