अपडेट: बंधुआ मजदूरी कराने ले जाये जा रहे 4 नाबालिक बच्चे कराए गए मुक्त, 3 अभियुक्त गिरफ्तार

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । वैसे तो सरकार बाल श्रम रोकने व सर्व शिक्षा अभियान के लिये अनेक कवायद कर रही है। किंतु समाज के कुछ ठेकेदार ऐसे भी हैं जो अधिकारियों की नाक के नीचे ही आदिवासी बच्चों और उनके परिजनों को बहला-फुसलाकर सैकड़ों किलोमीटर दूर ले जाकर बंधुआ मजदूर बना दे रहे हैं। उन्हें न समाज का भय है और न ही कानून की चिंता।

ताजा मामला रॉबर्ट्सगंज थाना क्षेत्र के हिंदुआरी का है। जहाँ पुलिस की सक्रियता से बंधुआ मजदूरी कराने के लिए ले जाये जा रहे 4 नाबालिक बच्चों को एक बोलेरो से बरामद करते हुए मुक्त कराया गया तथा तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

रॉबर्ट्सगंज थाना प्रभारी सुभाष चन्द्र राय ने बताया कि “आज चौकी प्रभारी हिन्दुआरी उ0नि0 संजीव कुमार राय पुलिस बल के साथ रॉबर्ट्सगंज-हिन्दुआरी मार्ग पर वाहन चेकिंग कर रहे थे और जैसे ही शिवशक्ति ढाबे के पास खड़ी सफेद रंग की बिना नम्बर प्लेट के संदिग्ध बोलेरो वाहन की चेकिंग की गयी तो उसमे कुछ बच्चे बैठे दिखाई दिये तथा कुछ लोग बाहर खड़े दिखाई दिये। पूछने पर बच्चों ने बाहर खड़े व्यक्तियों में से एक व्यक्ति को संरक्षक के रुप में बताया तथा अग्रिम पूछताछ एवं जांच में यह तथ्य सामने आये कि बोलेरो में सवार चारों बच्चे नाबालिग हैं तथा उक्त व्यक्तियों द्वारा बच्चों को बंधुआ मजदूर के रुप में कार्य कराने हेतु मेरठ ले जाया जा रहा है। पुलिस ने मौके से 3 अभियुक्तों को हिरासत में ले लिया। कड़ाई से पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि चारों नाबालिग बच्चों को 5000 रुपये प्रतिमाह पर काम कराने हेतु ले जाया जा रहा था।”

पुलिस ने सभी नाबालिक बच्चों नाबालिग बच्चों को सीडब्लूसी में पेश किया गया। वहां से आदेश प्राप्त कर सभी बच्चों को बाल संरक्षण गृह भेज दिया। उक्त के सम्बंध में थाना रॉबर्ट्सगंज पर मु0अ0सं0 404/2021 धारा 370(5) भादवि एवं 79 किशोर न्याय अधिनियम व 14(3) सीएलपीआरए एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

गिरफ्तार अभियुक्तगण का विवरण

1. नवीन कुमार पुत्र ओमपाल सिंह नि0 ग्राम भैंसवाल, गद्दीमुक्ता- शामली

2. सोविन्दर पुत्र सतपाल सिंह नि0 जिवना गुलियान माल-माजरा, बिनौली-बागपत

3. जगदीश जायसवाल पुत्र पतिलाल जायसवाल नि0 सकेती, चितरंगी-सिंगरौली

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम का विवरण

1. उ0नि0 संजीव कुमार राय, चौकी प्रभारी हिन्दुआरी, थाना रॉबर्ट्सगंज

2. आरक्षी कमलेश कुमार पासवान

3. आरक्षी जितेन्द्र कुमार

बहरहाल जो बच्चे मानव तस्करी या बंधुआ मजदूरी का शिकार होने से बच गए, वास्तव में भाग्यशाली हैं या नहीं, यह इस पर निर्भर करता है कि उनके पुनर्वास के लिए सरकार क्या कदम उठाती है। अन्यथा मजबूरन अपना गांव छोड़कर वे हजारों किमी दूर जाने को ही विवश होंगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!