कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए लोग नहीं बरत रहे हैं सतर्कता

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

० कोविड-19 की गाइडलाइन का नहीं हो रहा कोई पालन

० बाजारों में उमड़ रही भारी भीड़

फरीदपुर (बरेली) । कोरोना संक्रमण ने पूरे देश में हाहाकार मचा कर रख दिया है। पूरे देश की अर्थव्यवस्था ही चौपट हो कर रह गई है। गरीब मजदूर वर्ग के आगे रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। इस बीच कोरोना की तीसरी लहर आने की भी संभावना बढ़ती जा रही है। शासन और प्रशासन इसे लेकर पूरी तरह अलर्ट है। सरकार ने तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सभी सरकारी विभागों एवं स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया है। और कोविड-19 की गाइडलाइन का शक्ति के साथ जनमानस में पालन कराने के दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। मगर सरकार द्वारा लगातार कोविड-19 नियमों का समस्त देशवासियों को पालन करने के का प्रचार प्रसार कर रही है मगर इस जानलेवा बीमारी को लोग अभी भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। ना ही लोग मास्क 2 गज की दूरी और भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बच रहे हैं। जबकि इस बीमारी का बचाव ही कोविड-19 नियमों का पालन करने से ही है। मगर क्षेत्र की जनता इसको लगातार नजरअंदाज कर रही है और तहसील प्रशासन भी इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है। बाजारों में बढ़ती भीड़ कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन होता कहीं नजर नहीं आता दिखाई दे रहा है। तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए पुलिस विभाग के आला अधिकारियों ने सभी थाना पुलिस के अधिकारियों को मास्क चेकिंग के दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। और कोविड-19 की गाइडलाइन का शक्ति के साथ पालन कराने के भी दिशा निर्देश दे दिए हैं।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!