कानून की सही जानकारी न होने से महिलाएँ होती हैं शोषण का शिकार- अनीता सिंह

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जनपद की महिला बहनों को सुरक्षित रखा जाय, महिलाओं के उत्पीड़न की जानकारी होने पर तत्परता से कदम उठायें जाय। हर हाल में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित किया जाय। महिलाएं भी अपने-अपने घर परिवार को देखते हुए समाज की मुख्य धारा से जुड़े और महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें।

उक्त बातें राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य अनीता सिंह ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला प्रोबेशन विभाग के तत्वाधान में आयोजित एक दिवसीय विधिक जागरूकता शिविर मेंं कही।

राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य अनीता सिंह व जिलाधिकारी अभिषेक सिंह द्वारा दीप प्रज्जवलित कर सरस्वती जी के चित्र माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर विभागीय महिलाओं द्वारा माल्यार्पण कर स्वागत कर, तीर-धनुष देकर देकर सम्मान पूर्वक उनके मान को बढ़ाया गया।

इस मौके पर उन्होंने मौजूद जिला प्राबेशन कार्यालय व जिला कार्यक्रम कार्यालय से जुड़ें महिलाओं को जानकारी देते हुए बताया कि क्षेत्रों में जाकर महिलाओं को जागरूक करने का काम करें, ताकि महिलाओं के प्रति होने वाले उत्पीड़न को रोका जा सके और उन्हें सशक्त बनाकर उनका उत्थान किया जा सके। उन्होंने बताया कि कुछ महिलाओं को कानून की सही जानकारी का अभाव होने की वजह से वो शोषण का शिकार हो जाती हैं। इसलिए हमें अपने बच्चों व बच्चियों को जागरूक करें और ऐसी जानकारी से भी अवगत करायें। महिला उत्पीड़न के प्रकरणों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करते हुए महिलाओं के मान-सम्मान को बनाये रखा जाय। महिला उत्पीड़न सम्बन्धी प्राप्त शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण तरीके से कराते हुए अवगत भी कराया जाय। महिलाओं के उत्पीड़न के प्रकरण जैसे मामलों को गंभीरता से लेते हुए जल्द से जल्द समाधान किया जाय। उन्होंने बताया कि नारी सम्मान के लिए केन्द्र व प्रदेश सरकार काफी संजीदा व तत्पर है, जिसके तहत 1090 वूमैन पावर लाईन, 181 पारिवारिक महिला हेल्फ लाईन, आषा ज्योति एवं रानी लक्ष्मी बाई, महिला शक्ति योजना की व्यवस्था की गयी है। इसके तहत महिलाओं के समस्याओं सम्बन्धी मामलों का त्वरित निस्तारण किया जा सके। राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य अनीता सिंह ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभागीय कार्मिकों का टीम गठन कर छोटी बच्चियों व महिलाओं के बीच जाकर उनको सशक्त बनाने व आत्म रक्षा करने, स्वास्थ्य, शिक्षा आदि के लिए जागरूक करें और उनसे प्रेरित करें कि आस-पास के लोगों व महिलाओं को भी बताते हुए जागरूकता फैलाने का काम करें।

एक दिवसीय विधिक जागरूकता शिविर के आयोजन के मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 नेम सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ0 अमरेन्द्र पौत्स्सायन, उप निरीक्षक सरोजमा सिंह आदि ने महिलाओं के स्वास्थ्य, सुरक्षा, शिक्षा, उनके साथ हो रहे उत्पीड़न से बचाव के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से सम्बन्धित विस्तार पूर्वक बारी-बारी से जानकारी देते हुए प्रकाश डाला गया।

इस मौके पर राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य अनीता सिंह के अलावा मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 नेम सिंह, जिला प्राबेशन अधिकारी डा0 अमरेन्द्र पौत्स्सायन, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, समाजसेवी ओम प्रकाश त्रिपाठी, डीसी एनआरएलएम ए0के0 जौहरी, उप निरीक्षक सरोजमा सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय के कार्मिकगण आदि मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!