दिल्ली सरकार ने जंतर मंतर पर किसानों को प्रदर्शन करने की इजाजत दी

दिल्ली सरकार ने जंतर मंतर पर किसानों को प्रदर्शन करने की इजाजत दे दी। पुलिस की निगरानी में किसानों की बस जंतर मंतर जाएगी। पहचान पत्र की जांच के बाद ही अंदर जाने की इजाजत मिलेगी। किसनों को शाम पांच बजे प्रदर्शन खत्म कर लौटना होगा। सुरक्षा के मद्देनजर अर्धसैनिक बलों की पांच कंपनियां तैनाती की जाएगी। कृषि क़ानूनों के खिलाफ किसान नेताओं द्वारा 22 जुलाई को संसद कूच के ऐलान पर किसान नेता दर्शन पाल सिंह ने कहा कि कल किसानों की संसद लगेगी, किसानों के मुद्दों पर चर्चा होगी। शाम 5 बजे तक संसद चलेगी। परसो फिर 200 लोग जाएंगे। जाने दिया तो संसद लगाएंगे, गिरफ़्तार किया तो ज़ेल जाएंगे।

सिंघु बॉर्डर पहुंचे पूर्व सीएम ओपी चौटाला ने कहा कि गुरुवार को संसद का घेराव करेंगे। सरकार तीनों कानून को वापस ले। कल 22 तारीख को विपक्ष के संसद सदस्य संसद का घेराव करेंगे, धरना देंगे और इकट्ठे होकर संसद में जाएंगे और काले कानून का विरोध करेंगे। ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूर होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे।

संसद भवन की सुरक्षा में अद्र्धसैनिक बलों की चार कंपनियां तैनात की गई है। इस कंपनी में 75 से 80 जवान होते हैं। इसके अलावा दिल्ली पुलिस के 600 से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं। यहां तैनाती के लिए दिल्ली पुलिस के सभी जिला पुलिस से पुलिसकर्मी बुलाए गए हैं। संसद की अब सुरक्षा 24 घंटे रहेगी। पहले संसद सत्र चलने तक सुरक्षा व्यवस्था रहती थी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!