कांवड़ यात्रा को लेकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की अपील, अपने-अपने घरों में रह कर भगवान शिव का अभिषेक करें

कांवड़ यात्रा को लेकर सरकार द्वारा कोविड संक्रमण की तीसरी लहर को देखते हुए लिए गए निर्णय के बाद अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद भी सरकार के समर्थन में आ गया है। अखाड़ा संतो ने सभी शिव भक्तों से अपील की है कि सभी लोग अपने अपने घरों में रह कर भगवान शिव का अभिषेक करें। जब तक बहुत जरूरी ना हो बाहर ना निकलें। वहीं जिलाधकारी हरिद्वार का कहना है कि इस बार कावड़ मेला काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा । हमारे द्वारा जनपद के बॉर्डर पर गंगाजल टैंकरों द्वारा भेजा जाएगा । हमारी पोस्ट ऑफिस डाकघरों से बात हो चुकी है । उनके द्वारा शिव भक्तों की मांग के अनुसार गंगाजल उनके घरों तक भिजवाया जाएगा । अगर कोई भी कांवड़िया सीमा के अंदर घुसने की कोशिश करता है तो उनको क्वारंटीन किया जाएगा ।हमने शासन से अतिरिक्त पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स की मांग भी की है ।

उत्तराखंड सरकार द्वारा इस साल की कांवड़ यात्रा भी पिछले साल की तरह कोविड संक्रमण के चलते रद्द कर दी गई है । जिसके बाद अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद भी प्रदेश सरकार के समर्थन में आगे आया है ।निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर कैलाशानंद गिरी महाराज का कहना है कि अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने एक बयान जारी कर सभी शिव भक्तों से अपील की है कि सभी लोग कोरोना की स्थिति को समझते हुए अपने गांव के पास शिवालयों पर ही भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक करें।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी चाहते थे कि शिव भक्त कांवड़ियों की आस्था को देखते हुए कांवड़ मेला हो, लेकिन कोरोना वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए यह निर्णय ही उचित है । ऐसे में हमें सरकार का साथ देना चाहिए और सरकार द्वारा लिए गए निर्णय का समर्थन करना चाहिए । हरिद्वार के संतो ने भी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। और सभी शिव भक्तों से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए कांवड़ यात्रा को स्थगित किया गया है । हम सरकार के इस फैसले का समर्थन करते हैं । सरकार शिवालयों पर गंगाजल की व्यवस्था करें, ताकि कांवड़ियों को किसी प्रकार की समस्या ना हो, साथ ही उन्होंने कहा कि आस्था को देखते हुए कांवड़ियों से अपील की है कि वह भी सरकार के निर्णय का साथ दें।

डीएम सी रविशंकर का कहना है कि बॉडरिंग डिस्ट्रिक्ट है कि अभी हरियाणा यूपी में डीएम और एसएसपी से बैठक प्रस्तावित है।अगर ये बैठकें हो जाती हैं तो इसको लेकर योजना बनाई जाएगी कि कहां कहां पर गंगाजल के टैंकर भिजवाए जाएं. अभी हमारे द्वारा बॉर्डर्स पर टैंकर रिप्लेसमेंट करने की योजना बनाई जा रही है । इसके अलावा डाकघर द्वारा समन्वय किया गया है कि मांग के हिसाब से अपने अपने पोस्ट ऑफिस में गंगाजल भारी मात्रा में उपलब्ध रखें । इस संबंध में डाक विभागों से बात किया गया है । अबकी बार कांवड़ मेला बहुत ज्यादा चुनौतीपूर्ण रहेगा । इसलिए हम अलग-अलग डीएम एसएसपी के साथ बैठक करेंगे । उसके बाद ही हम कार्य योजना बनाएंगे अगर कोई कांवड़िया बॉर्डर में आने की कोशिश करता है । तो उसको बॉर्डर पर ही पिछली बार की तरह इस बार भी पेड क्वारंटीन किया जाएगा । वहीं जिले से लगते हुए बॉर्डर पर पुलिस बल पूरी तरह से शख्ती रखेगा ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!