जनसंख्या नियंत्रण कानून पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बयान, कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं, जागरुकता फैलाने की जरूरत

देश में जनसंख्या विस्फोट पर लगाम लगाने की कवायद शुरू हो चुकी है। असम के बाद उत्तर प्रदेश भी जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर आगे बढ़ गया है और कई राज्यों में भी जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाए जाने की मांग उठ रही है। इसी बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा बयान सामने आया है।

मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं होने वाला है। इसके लिए जागरुकता फैलाने की जरूरत है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक जनसंख्या नियंत्रण बिल पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि भाजपा ने ही नसबंदी के कार्यक्रम का विरोध किया था, अगर 70 के दशक में नसबंदी को आगे बढ़ाते तो आज जनसंख्या इतनी नहीं बढ़ी होती। जनसंख्या नियंत्रण का कानून बनाने से समस्या का हल नहीं होगा, जब तक लोगों में जागरूकता नहीं हो।

गौरतलब है कि सत्ताधारी पार्टी भाजपा की सहयोगी पार्टी जदयू के नेता नीतीश कुमार ने भी जागरुकता फैलाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि बहुत लोगों को लगता है कि केवल कानून बना देंगे और उससे हो (जनसंख्या पर नियंत्रण) जाएगा। वह उनकी सोच है। हमारी स्पष्ट सोच है कि सिर्फ कानून से नहीं बल्कि महिलाओं का शिक्षित होना सबसे अधिक जरूरी है। कई ऐसे उदाहरण हैं कि पढ़े-लिखे लोग भी कई बच्चे पैदा करते हैं। सबकी अपनी-अपनी सोच है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!