तीन दिवसीय विशेष टीकाकरण सत्र की संतोषजनक प्रगति नहीं मिलने पर बिफरे डीएम

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

बैठक में अनुपस्थित डिप्टी सीएमओ डॉ0 एस0के0 वर्मा का अगले आदेश तक रोका वेतन

जिलाधिकारी ने पूर्व में हुई बैठकों के अनुपालन आख्या नहीं देने पर सीएमओ को दी चेतावनी

टीकाकरण को लेकर भ्रांति फैलाने पर बघाडू प्रधान के खिलाफ कार्यवाही हेतु लिखा डीपीआरओ को पत्र

सोनभद्र । एक तरफ प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण को लेकर विशेष अभियान चला रहा है। लोगों को जागरूक करने को तमाम प्रयास किए जा रहे है। मगर ग्रामीण इलाकों में अभी भी भ्रांतियों के चलते लोग वैक्सीनेशन कराने से दूरी बना रहे हैं। कहीं जागरूकता की कमी तो कहीं सरकारी कर्मियों की ओर से जागरूकता कार्यक्रम में सहयोग न करने के कारण टीकाकरण प्रभावित हो रहा है। इसको गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने सोमवार रात कलेक्ट्रेट में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर टीकाकरण की समीक्षा की। उन्होंने बैठक में उपस्थित नहीं होने पर डिप्टी सीएमओ डॉ0 एस0के0 वर्मा का वेतन अगले आदेश तक के लिए रोक दिया। पूर्व में हुई बैठकों के अनुपालन आख्या नहीं देने पर सीएमओ को चेताया। वहीं आईसीडीएस के कर्मचारियों की ओर से जागरूकता कार्यक्रम में सहयोग न करने पर नाराजगी जताई और जिला कार्यक्रम अधिकारी को नोटिस जारी करने की संस्तुति की।

बैठक में तीन दिवसीय विशेष टीकाकरण सत्र की समीक्षा हुई। इस दौरान जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 रामकुंवर ने एक-एक केंद्र पर हुए टीकाकरण की रिपोर्ट प्रस्तुत की।

बभनी की प्रगति रिपोर्ट में पता चला कि आयोजित सत्र में महज 70 लोगों को टीका लगाया गया, यहां स्थिति संतोषजनक नहीं मिली। इस पर डीएम ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 आर0जी0 यादव को चेतावनी दी।

म्योरपुर ब्लाक में 1157 लोगों को टीका लगाया गया है। यहां बताया गया कि बाल विकास विभाग के कर्मचारी जागरूकता में सहयोग नहीं कर रहे हैं। इस संबंध में डीपीओ को नोटिस देते हुए अगले सत्र पर कर्मचारियों के अपेक्षित सहयोग के लिए उनकी उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए कहा।

दुद्धी ब्लाक में 302 लोगों ने टीका लगवाया है। यहां बघाडू के प्रधान की ओर से जागरूकता में सहयोग नहीं किया गया। तरह-तरह की भ्रांतियां फैलाने का भी मामला प्रकाश में आया। ऐसे में इनके खिलाफ भी कार्रवाई के लिए डीपीआरओ को पत्र लिखा गया।

चोपन, नगवां, घोरावल व चतरा ब्लाक क्षेत्रों में भी टीकाकरण की प्रगति ठीक नहीं पाई गई। घोरावल ब्लाक में कुछ लेखपालों व प्रधानों की ओर से जागरूकता कार्यक्रम में सहयोग न करने का मामला प्रकाश में आया।

बैठक में सीएमओ डॉ0 नेम सिंह, एसीएमओ डॉ0 सलील श्रीवास्तव, एसीएमओ डॉ0 ओ0पी0 शुक्ला, एसीएमओ डॉ0 बी0के0 अग्रवाल, एसीएमओ डॉ0 आर0जी0 यादव, एसीएमओ डॉ0 वाई0 प्रसाद, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 रामकुंवर, सहायक प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 एस0के0 चतुर्वेदी आदि मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!