जनपद में 1 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक मनाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह

अबुलकैश (डब्बल)

* जुलाई माह में चलेगा संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान।

चन्दौली। मुख्यमंत्री उ0प्र0 योगी आदित्यनाथ जी द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जनपदों के जिलाधिकारियों से अंतर्विभागीय समन्वय से कार्यक्रमों को सफल बनाने को लेकर चर्चा की गई। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित करते हुए कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान 1 जुलाई से 31 जुलाई तक एवं दस्तक अभियान 12 जुलाई से 25 जुलाई तक चलेगा ।कार्यक्रम की सफलता हेतु सभी संबंधित विभाग आपसी समन्वय बनाते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करना सुनिश्चित करें, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता स्वीकार नहीं होगी। इसमें स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, बाल विकास, शिक्षा विभाग, विकास विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस अभियान के तहत घर घर भ्रमण कर बुखार के रोगियों का चिन्हीकरण किया जाएगा। कोविड लक्षण युक्त मरीजों का चिन्हीकरण, क्षय रोगियों का चिन्हीकरण किया जाएगा। प्रत्येक टीम द्वारा 25 घर जाकर प्रतिदिन दस्तक अभियान के तहत चिन्हित किया जाएगा। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रत्येक जनपद में गर्भवती महिलाऐं एवं कुपोषित बच्चे पुष्टाहार का नियमित सेवन करेंगे तो कुपोषण मुक्त किए जाने में सफलता हासिल होगी। आईसीडीएस विभाग आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से पुष्टाहार पहुंचाया जाना सुनिश्चित करें। बरसात के मौसम में तमाम बीमारियां उत्पन्न होती हैं इसको लेकर के सभी जगहों पर अभियान चलाकर साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन एवं फॉगिंग सुनिश्चित किया जाय एवं शुद्ध पेयजल का प्रयोग करने के लिए लोगों को जागरूक करें। उपचार से पहले बचाव किये जाए तो हॉस्पिटल का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। यह बात सभी को बताना होगा। जलजमाव न हो इसके लिए ठोस कदम उठाया जाय । आम जनता को व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति जागरूक करना एवं खुले में शौच न करने लिये प्रेरित करना, शुद्ध पेयजल का प्रयोग करने तथा मच्छरों के रोकथाम हेतु जागरूकता आम जनता में लाना जरूरी है इसके लिए अभियान संचालित किये जाय। खेतों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न न हो, आसपास के एकत्रित जल को बाहर करें। किसानों को इसी समय धान की रोपाई करना होता है इसलिए खेतों में पानी की पर्याप्त उपलब्धता होनी चाहिए। इसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारी ठोस कार्यवाही सुनिश्चित करें।
माननीय मुख्यमंत्री जी ने संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना के संभावित तीसरी लहर को देखते हुए सभी तैयारियां ठोस रणनीति बनाते हुए पूरी कर ली जाए। तीसरी लहर में बच्चों के लिए खतरा ज्यादा होने की आशंका है। इसके लिए *अभिभावक स्पेशल बूथ* बनाया जायेगा, पूरी तैयारी सुनिश्चित कर लिया जाय। बच्चों व महिलाओं के लिए 102 नंबर एंबुलेंस का प्रयोग किया जाए। लक्षण युक्त मरीजों में अधिक से अधिक कोविड किट वितरण किया जाना सुनिश्चित करें। कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी कदम उठाया जाए। सभी लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराया जाय। बाजारों के दुकानदारों से यह सुनिश्चित किया जाए कि मास्क के बगैर दुकान में प्रवेश न करने दें *पहले मास्क फिर सामान* दिया जाय। यह निर्देश सभी को लगातार लाउडस्पीकर के माध्यम से दिया जाना सुनिश्चित करें। समय-समय पर सरकार द्वारा जारी कोविड प्रोटोकॉल के नियमों का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित करने के साथ संबंधित अधिकारी लगातार लोगों से संपर्क करते रहें।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने सभी जिलाधिकारी से कहा कि उत्तर प्रदेश के जो जनपद सबसे पहले करोना मुक्त होंगे,उसे शासन स्तर से पुरस्कृत किया जाएगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग समाप्ति के तत्पश्चात जिलाधिकारी ने उपस्थित संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जो निर्देश माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा दिये गए हैं उसका शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित हो। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बीपी द्विवेदी, जिला पंचायत राज अधिकारी ब्रह्मचारी दुबे, जिला मलेरिया अधिकारी जेपी सोनकर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!