सरकारी विभागों के उत्पीड़न से आहत व्यापारियों ने प्रभारी मंत्री को सौंपा ज्ञापन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज उ0प्र0 उद्योग व्यापार मंडल ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम में हुए बदलाव व जिले के व्यापारियों के ऊपर सरकारी विभागी के द्वारा हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ जिलाध्यक्ष राजेश गुप्ता के नेतृत्व में सर्किट हाउस में सोनभद्र दौरे पर आए बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चंद द्विवेदी को ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान जिलाध्यक्ष राजेश गुप्ता ने कहा कि “कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन व्यापार पूरी ठप्प रहा और उसके बाद मौसम की मार से व्यापरी पूरी तरह से टूट चुका है। इसके बाद भी बिजली विभाग द्वारा बिल बकाया पर लाइन कटौती का अभियान चलाया जा रहा है, जो बिल्कुल भी उचित नहीं है।
वहीं कोरोना काल के दौरान व्यापारियों को जीएसटी में समास से रिटर्न्स न भरे जाने पर पेनाल्टी चार्ज किया जा रहा है। ऐसे में व्यापारियों के साथ हो रहे इस उत्पीड़न को प्रदेश सरकार को तत्काक प्रभाव से रोक लगाना चाहिए तथा व्यापारियों को 3 माह का समय दिया जाना चाहिए।”

वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष संदीप सिंह चंदेल ने कहा कि “जिले में एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट द्वारा व्यापारियों का बड़े पैमाने पर उत्पीड़न व शोषण किया जा रहा हो, जिस पर तत्काल रोक नहीं लगी तो व्यापार मंडल आंदोलन के लिए बाध्य होगा।”

वहीं युवा जिलाध्यक्ष रमेश जायसवल ने कहा कि “कोरोना काल के कारण खाद्य एवं औषधि विभाग, श्रम विभाग, बाट माप विभाग द्वारा लाइसेंस जारी व नवीनीकरण किया जाता है। जिसकी समय सीमा बढ़ाकर दिसंबर तक किया जाना चाहिए।”

इस दौरान व्यापारियों ने चेताते हुए कहा कि यदि व्यापारियों का शोषण व उत्पीड़न नहीं रुक तो व्यापर मंडल आंदोलन करने को बाध्य होगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रदेश सरकार व प्रशासन की होगी।

ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधि मंडल में जिलाध्यक्ष राजेश गुप्ता, जिला महामंत्री राजेश बंसल, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष संदीप सिंह चंदेल, युवा जिलाध्यक्ष रमेश जायसवल, आईटी सेल अध्यक्ष अजय केशरी मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!