करना था खनन माफियाओं के नामों का खुलासा, गिनाने लगे खुद के पार्टी नेताओं की कमियाँ

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

जिला प्रभारी ने जिला उपाध्यक्ष को किया निष्कासित, जिलाध्यक्ष बोले- यह उनका काम नहीं

● 12 जून को बड़े-बड़े दावे करने वाले जिला प्रभारी आखिर क्यों भटक गए विषय से

● जिला उपाध्यक्ष के साथ रावर्ट्सगंज में सामूहिक प्रेस कांफ्रेंस करने वाले जिला प्रभारी को क्यों चोपन में अकेले करना पड़ा पीसी

● चोपन थाने के इश्यू पर 12 जून को ही क्यों नहीं बोले जिला प्रभारी

● पार्टी के जिलाध्यक्ष बोले, जल्द मीटिंग बुलाकर समस्याओं को सुना जाएगा

सोनभद्र । अवैध खनन व ओवरलोड के खिलाफ हिन्दू युवा वाहनी संगठन के जिला उपाध्यक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस कर मामले को उठाया तो खनन माफियाओं समेत प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया। राबर्ट्सगंज के एक निजी होटल में प्रेस कांफ्रेंस किये अभी एक सप्ताह ही हुए थे कि संगठन में मतभेद शुरू हो गया।

शुक्रवार को हिन्दू युवा वाहनी के जिला प्रभारी डॉ0 उपेंद्र देव पांडेय ने चोपन में अकेले प्रेस कांफ्रेंस बुला लिया। जिला प्रभारी ने कहा कि विगत 12 जून को हुए प्रेस कांफ्रेंस में वे गुमराह हो गए थे, जिला उपाध्यक्ष द्वारा चोपन एसओ के खिलाफ उठाया गया मामला निजी है। उन्होंने जिला उपाध्यक्ष राकेश उपाध्याय के ऊपर तमाम आरोप लगाते हुए निलंबित कर दिया।

हियुवा के जिला प्रभारी द्वारा की गई कार्यवाही के बाद पार्टी संगठन में रार और भी बढ़ गया । जिलाध्यक्ष विवेकानन्द पांडेय ने जिला प्रभारी की कार्यवाही को गलत बताते हुए कहा कि पार्टी से निष्कासन का अधिकार जिलाध्यक्ष को होता है, इसलिए राकेश उपाध्याय अब भी हियुवा के जिला उपाध्यक्ष के पद पर बने हुए हैं।

जनपद सोनभद्र के लिए खनन का विषय कितना कठिन व विवादित है, यह इस बात से समझा जा सकता है कि जब तक हियुवा के कार्यकर्ता गौ संरक्षण को लेकर काम करते थे तो कोई रार नहीं था लेकिन जैसे ही खनन में प्रवेश किये संगठन में फूट पड़ने लगा।

12 जून को जब राबर्ट्सगंज के एक निजी होटल में जिला प्रभारी प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे तब उनका पूरा प्रेस कांफ्रेंस अवैध खनन व ओवरलोड को लेकर था। उन्होंने 10-15 दिनों के भीतर अवैध खेल के पीछे कौन-कौन शामिल है, उसके नामों का खुलासा करने वाले थे लेकिन अब जब पार्टी में ही रार शुरू हो गया है तो उनके खुलासे के क्या होगा, ये एक बड़ा सवाल बन गया है।

जिस तरह से जिला प्रभारी कल आनन-फानन में जिला मुख्यालय छोड़ चोपन में प्रेस कांफ्रेंस किये उससे क्या समझा जाए, क्या वे किसी दबाव में हैं या फिर पार्टी में वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। क्योंकि पार्टी के जिलाध्यक्ष ने राकेश उपाध्याय के निलंबन को ही गलत करार दे दिया है।

कुल मिलाकर हिन्दू युवा वाहनी को यदि सोनभद्र में पार्टी को बचानी है तो खनन का विषय छोड़ अपने मूल कार्यों को ही करना चाहिए क्योंकि खनन में घुसते ही पार्टी में ही बिखराव शुरू हो गया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!