राज्य महिला आयोग की सदस्य ने सरकारी चिकित्सालयों का किया निरीक्षण

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

कार्य में लापरवाही पर दो स्टॉप नर्सों को निलंबित करने का दिया निर्देश

चिकित्सालयों में गंदगी देख भड़की राज्य महिला आयोग की सदस्य

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए हर स्थिति को बनाएँ मजबूत और तैयार हालत में रखें जरूरी उपकरण

सोनभद्र । राज्य महिला आयोग की सदस्य अनिता सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नगवाँ, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चतरा और जिला संयुक्त चिकित्सालय का निरीक्षण किया।

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चतरा में निरीक्षण के दौरान उन्होंने चिकित्सीय उपकरण सही स्थिति में न पाये जाने पर और उनका रख-रखाव बेहद खराब होने पर सम्बन्धित स्टाफ नर्स मालती देवी, पुनम को कार्य में लापरवाही पाये जाने पर निलम्बन की कार्यवाही के लिए सम्बन्धितों को निर्देश दिये। उन्होंने मौके पर मौजूद प्रभारी चिकित्साधिकारी को दायित्वबोध कराते हुए कहा कि अस्पताल में सफाई का विशेष ध्यान दिया जाय। निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि छत से पानी टपकने पर उन्होंने सम्बन्धितों को तत्काल छत की मरम्मत के निर्देश दिये।

वहीं निरीक्षण के दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नगवां परिसर में गंदगी पाये जाने और ड्रेनेज की व्यवस्था सही न होने पर मौके पर मौजूद अस्पताल के अधीक्षक को दायित्वबोध कराते हुए कहा कि साफ-सफाई का विशेष ध्यान देते हुए परिसर को स्वच्छ बनायें और परिसर में पौध रोपित भी करायें।

जबकि जिला संयुक्त चिकित्सालय में निरीक्षण के दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 के0 कुमार से जन स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जाना। उन्होंने इमरजेंसी सामान्य ओपीडी व अस्पताल में आने वाले मरीजों को मुहैया करायी जाने वाली जन स्वास्थ्य सुविधाओं, कोविड-19 ऐक्ट का पालन, दवाओं की उपलब्धता और एनसीआरसी, एसएनसीयू, लेबर रूम, 100 सैय्यायुक्त अस्पताल, लेबर रूम, माइनर ओटी, ओटी आदि का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि यदि कोई गर्भवती महिला कोरोना पॉजिटीव है और उसकी डिलेवरी आपरेशन के द्वारा की जानी है, उसकी तैयारी के बारे में जाना और कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए हर स्थिति को मजबूत बनायें और जो उपकरण जरूरी हो, तैयार हालत में रखें। कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय में जॉच के बाद स्थिति पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि चाईल्ड डॉक्टर को भी तैयार किया जाय, जिससे की बच्चों में होने वाले बीमारियों को सही से इलाज हो सके। आशाओं के माध्यम से नगरीय व ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में जन जागरूकता घर-घर जाकर संभावित कोविड-19 के संक्रमण के लोगों को पहचान करने और उनको आवश्यक दवाएं मुहैया कराने के बारे में जाना। मरीजों के खान-पान की स्थिति का जायजा लिया और कहा कि मेनू के अनुसार भोजन उपलब्ध कराया जाय। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि महिलाओं के सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के प्रति सजगता दिखायें और शासन द्वारा मिल रही चिकित्सकीय सुविधाओं को शत-प्रतिशत उपलब्ध करायें।

कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु टीकाकरण अभियान चलाकर शत-प्रतिशत महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित किया जाय। महिलाओं को टीकाकरण के महत्व व अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जागरूक किया जाय। महिलाओं को सशक्त बनाने का प्रयास किया जाय और उनके स्वास्थ्य के प्रति भी उन्हें जागरूक किया जाय, ताकि हर स्थिति से निपटने के लिए सक्षम हो सके।

निरीक्षण के दौरान राज्य महिला आयोग की सदस्य अनिता सिंह के अलावा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 के0 कुमार, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बी0के0 अग्रवाल, डॉ0 गणेश प्रसाद, डॉ0 शशांक, जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ0 अमरेन्द्र पौत्स्सायन, तहसीलदार सदर बृजेश वर्मा, डीपीएम रिपूंजय श्रीवास्तव, जिला प्रोबेशन कार्यालय से जुड़े नीतूयति सिंह, साधना मिश्रा, जिला बाल संरक्षण इकाई के शेषमणि दूबे सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे।

राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की सदस्य अनिता सिंह ने सोनभद्र जिले के भ्रमण के दौरान लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस राबर्ट्सगंज में प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक्स मीडिया के प्रतिनिधियों के साथ प्रेस-वार्ता भी किया। प्रेस-वार्ता के दौरान कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से गर्भवती महिलाओं व बच्चों को बचाने के लिए सशक्त तैयारियाँ कर ली गयी है, जिससे कोई जनहानि न होने पायें। इस मौके पर उन्होंने मीडिया बन्धुओं को कोरोना काल में भी योद्धा के रूप में काम करने को सराहा और साधुवाद भी दिया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!