जिले में लगाए जाएंगे 3792737 पौधे, 26 विभागों को मिली जिम्मेदारी

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

गाजीपुर। जिले में घटते पेड़ एवं वन क्षेत्रों ने एक नई चुनौती पेश कर दी है। पर्यावरण प्रदूषण की मार से आम जन बेहाल है। वृक्ष हमें न केवल छाया प्रदान करते हैं बल्कि भूमि कटान को रोकने के साथ ही प्रचुर मात्रा में जीवनदायिनी आक्सीजन देते हैं जिसके बिना मानव जीवन की कल्पना संभव नहीं है। पर्यावरण के इसी महत्व को देखते हुए सरकार की ओर से हर वर्ष अभियान चलाकर पौधरोपण कराया जाता है। इस वर्ष जिले को लगभग 37 लाख से अधिक वृक्ष लगाने का लक्ष्य मिला है। 57 प्रजातियों के इन पौधों को लगाने की जिम्मेदारी लक्ष्य निर्धारित कर 26 विभागों को सौंपी गई है।
मानव जीवन को सुखी, समृद्ध एवं संतुलित बनाए रखने के लिए वृक्षारोपण का अपना विशेष महत्व है। वृक्ष वातावरण को शुद्ध एवं स्वच्छ बनाते हैं। कार्बन डाई आक्साइड गैस के साथ ही अन्य हानिकारक गैसों को अवशोषित करते हैं। इसके बिना मानव जीवन की कल्पना ही असंभव है। शासन के निर्देश पर जिले में पौधरोपण की तैयारी तेज कर दी गई है। पूरे जिले में इस बार जुलाई माह में होने वाले पौधरोपण अभियान में 57 प्रजातियों के 37 लाख 92 हजार 737 पौधों का रोपण किया जाएगा। इनमें जामुन, नीम, बरगद, पीपल, आम, आंवला, महुआ, नीबू, पपीता, करौंदा, पाकड़, अशोक, हरश्रंगार, शरीफा, कैंथा, सागौन, यूक्लिप्टस, चिलबिल, गंम्हार, शीशम, सहजन आदि पौधों का रोपण किया जाएगा। ग्राम पंचायतों सहित कुल 26 विभागों को विभिन्न जगहों पर पौधरोपण किए जाने की जिम्मेदारी दी गई है। रोपित किए जाने वाले पौधों में पांच श्रेणी के पर्यावरणीय प्रजाति के पौधे जिनमें ज्यादा आक्सीजन देने वाले, फलदार, चारा पत्ती, इमारती तथा शीघ्र बढ़ने वाले पौधे शामिल हैं। इनमें विभिन्न फलदार प्रजाति के करीब पांच लाख पचास हजार पौधे लगाए जाने हैं। इस पूरे अभियान की गुणवत्ता की मॉनीटरिंग शासन स्तर से की जाएगी। यह पौधे पूरे जिले में कुल 1920 हेक्टेयर परिक्षेत्र में विभिन्न जगहों पर लगाए जाएंगे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!