अधिसूचना जारी होने के साथ एक्शन मोड में पॉलिटिकल पार्टी

मनोहर कुमार

जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए गुणा गणित का खेल शुरू
सपा से सामने आया सेनापति
चंदौली। जनपद के प्रथम नागरिक के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होने के साथ ही धान के कटोरे के रूप में विख्यात चंदौली जनपद में राजनीति एक बार फिर गर्म हो गई।जिला अध्यक्ष पद के लिए राजनीतिक दल एक्शन मोड में आ गए हैं। सामजवादी पार्टी ने अपने सेनापति का खुलासा कर दिया।जिला पंचायत अध्यक्ष के पद के लिए तेज नारायण यादव को उम्मीदवार घोषित किया है। वहीं अन्य राजनीतिक दल अभी राजनीतिक हवा का रुख नापने में लगे हैं।
जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव की अधिसूचना जारी होते ही राजनीति गलियारों में हलचल तेज हो गई है। धान के कटोरे में विख्यात चंदौली जनपद में राजनीतिक आबोहवा बदल रही है। निर्दलियों के पाव बारह हैं। सत्ता की कुंजी उन्हीं के पास है। 35 सदस्यीय जिला पंचायत में सपा के दस,भाजपा के आठ, बसपा के चार व 13 निर्दलीय सदस्य हैं।
35 में से 13 सीटों पर इस बार निर्दलीय जीते हैं। यह संख्या बताती है कि जीत का दावा करने वाले इन दलों को निर्दलियों के भरोसे ही जीत मिल सकती है। । जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पाने का ख्वाब देख रहे हैं। इस पद के लिए अधिसूचना जारी हो गई है।इस के साथ ही राजनीतिक दल एक्शन मोड में आ गए है। सपा ने अपना पत्ता चल दिया है।जबकि सत्ताधारी पार्टी अभी हवा का रुख नाप रही है।यहां का राजनीतिक चरित्र अंतिम समय तक बदलता रहता है। देखना दिलचस्प होगा कि ऊंट किस करवट बैठेगा।

दिग्गज संभालेंगे के कमान
प्रदेश में विधान सभा चुनाव से पहले यह एक बड़ा चुनाव है।जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सभी राजनीतिक दल एड़ी चोटी एक करेंगे। जिले में सपा की कमान पूर्व सांसद,वर्तमान विधायक,पूर्व विधायक के हाथ में तो सत्ताधारी भाजपा के साथ में तीन विधायक एक सांसद के हैं।वहीं निर्दलियों की फौज की कमान भी मजबूत हाथों में जा सकता है।

लेकिन इसके लिए जरूरी 24 सदस्यों का समर्थन किसी के पास फिलहाल नहीं है। जाहिर सी बात है कि बहुमत के अंक साधने के लिए इन दलों को निर्दलियों की हरहाल में जरूरत पड़ेगी। यानी निर्दलियों का रुझान जिस तरफ हुआ जिला पंचायत की सत्ता भी उसी के हाथ में होगी। इस बार जिला पंचायत अध्यक्ष पद की सीट सामान्य वर्ग के आरक्षित है।
भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा ने दावा किया है पार्टी के समर्थित 10 प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। सपा, कांग्रेस और निर्दलीय के जिला पंचायत सदस्य उनके संपर्क में हैं। जब सपा की सरकार थी, तब भी भाजपा चुनाव जीती थी और इस बार भी जीत सुनिश्चित है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!